कोरोनाकाल में फेफड़ों को मजबूत रखने के लिए करें यह काम, रहेंगे फिट

yoga-asanas-to-keep-your-lungs-strong-and-healthy-during-covid-pandemic-in-hindi
yoga-asanas-to-keep-your-lungs-strong-and-healthy-during-covid-pandemic-in-hindi

नई दिल्ली : दिन प्रतिदिन कोरोना के मामले बढ़ने लगे हैं। ऐसे में लोग घरों से बाहर निकलने पर भी कतरा रहे हैं। पर आप घर बैठे ही स्वस्थ हो सकते हैं। इस महामारी के समय में फेफड़ों को कैसे स्वस्थ रखना है, इसके बारे में इनोसेंस योगा कि योग एक्सपर्ट भोली परिहार बता रही हैं, उन योगासन के बारे में जिन्हें आप घर पर ही कर सकते हैं और फेफड़ों को स्वस्थ रख सकते हैं। तो आइए विस्तार से जानते हैं, उन योगासनों के बारे में और करने का तरीका।

yoga-asanas-to-keep-your-lungs-strong-and-healthy-during-covid-pandemic-in-hindi
yoga-asanas-to-keep-your-lungs-strong-and-healthy-during-covid-pandemic-in-hindi

चक्रासन का करें

चक्रासन लिवर को मजबूत करता है। पैन क्रिया और किडनी पर काम करता है। साथ ही साथ हमारे शरीर में लचीलापन तो लाता ही है हमारे फेफड़ों से जुड़ी परेशानियां जैसे अस्थमा, सांस अच्छे से ना आना आदि को दूर करता है। साथ ही साथ जिन लोगों को डायबिटीज है, उन लोगों में कोरोना का संक्रमण ज्यादा बढ़ रहा है। यदि वह इस आसन को करते हैं तो वह अपने फेफड़ों को तो मजबूत करेंगे ही डायबिटीज को भी कम करने में यह आसन मदद करेगा। यह आसन हमारी हृदय की मांसपेशियां को भी मजबूत करता है।

Coronavirus : कोरोना काल में अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने का एक मात्र सही तरीका

ये है तरीका

अपने मैट पर पीठ के बल लेट जाएं।
अपने दोनों पैरों के घुटनों को मोड़ लें। व एडियों को अपने हिप्स के पास ले आएँ।
अपने दोनों हाथों को उठाते हुए अपने कान के बगल में जमीन पर रख लें।
उंगलियां कंधों की तरफ रहेंगी।
सांस भरते हुए अपने हाथों व जांघों पर जोर लगाते हुए अपने शरीर को आसमान की ओर उठा दें।
इस आसन में आपके हाथ व पैर जमीन पर ही रहेंगे व कमर व छाती हवा में रहेगी।
सांस छोड़ते हुए धीरे से वापस आ जाएं और अपनी कमर को आराम दें।

अंजने आसन करें

यह हमारे छाती वाले हिस्से की सभी मांसपेशियों को खोल देता है। यह हमारे पाचन को बेहतर करता है। इस कोरोनाकाल में जिन लोगों को दस्त हो रहे हैं तो उनके लिए भी फायदेमंद है। कोविड की वजह से स्ट्रेस व चिंता हो रही है, यदि वे लोग इस आसन को करते हैं तो अपनी स्ट्रेस व चिंता के लेवल को कम कर सकते हैं। साथ ही साथ यह आसन हमारे टखने, हिप, घुटनों और जांघों को मजबूत करता है। कंधों को मजबूती देता है।

ये है तरीका

अपने दोनों पैरों में जंप करते हुए गैप बना लें व अपने दोनों हाथों को अपनी कमर पर रख लें।
अपने शरीर को अपनी दाईं तरफ घुमा लें। उसके बाद अपने पीछे वाले पैर के घुटने को जमीन पर रखें। व आगे वाला पैर 90 डिग्री से कम रहेगा। व घुटना आसमान की ओर।
सांस भरते हुए अपने दोनों हाथों का रुख आसमान की ओर करते हुए अपनी बॉडी के ऊपर वाले हिस्से में पीछे की ओर झुकाव दें।
इस आसन में 10 से 15 सैंकेंड होल्ड करें व धीरे से वापस आ जाएं।

मत्स्य आसन करें

कोरोना के कारण फेफड़े कमजोर हो रहे हैं तो यह आसन आपके फेफड़ों को मजबूती तो प्रदान करेगा ही साथ ही साथ आपके पसलियों को खोलेगा जिससे आपके फेफड़ों के आसपास की सभी मांसपेशियो में खिंचाव आएगा। जिसके कारण आपको सांस से संबंधित कोई भी पेशानियां हो रही हैं तो वे दूर हो जाएंगी। साथ ही साथ हमारी रीढ़ की हड्डी में लचीलापन लाता है। जिन लोगों को कफ रहता है उन लोगों के लिए यह आसन बहुत अच्छा है।

ये है तरीका

अपनी मैट पर पीठ के बल लेट जाएं।
अपने दोनों पैरों को मिला लें।
अपने दोनों हाथों को अपने जांघों की बगल में जमीन पर रखें।
आपकी कमर व गर्दन जमीन पर ही रहेगी। आपकी गर्दन एकदम रिलैक्स रहेगी।
अब सांस भरते हुए अपने छाती वाले हिस्से को आसमान की ओर उठाएं।
आपके सिर की चोट वाली हिस्सा जमीन पर रहेगा। व दोनों कोहनियों से सहारा लेते हुए व अपने हिप्स को जमीन पर रखते हुए अपने छाती को जितना हो सके उतना आसमान की ओर उठाएं।
दोनों पैर जमीन पर ही रहेंगे और आपकी रीढ़ की हड़्डी में कर्व आएगा।
सामान्य सांस लेते हुए वापस आ जाएं और कुछ देर विश्राम करें।
इस आसन में 10 से 15 सैकेंड होल्ड करें।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *