Uttar Pradesh में दोड़ेगी विकास की लहर, देशी और विदेशी कंपनियां करेंगी निवेश

UP CM YOGI
UP CM YOGI

नई दिल्ली। Uttar Pradesh: अब भारत देश में डिफेंस कॉरिडोर में देशी और विदेशी कंपनियां निवेश करेंगी, जिसके बाद ये माना जा रहा हैं की करीब ढाई से तीन लाख रोजगार की प्राप्ति होगी। देश को रक्षा उत्पादों के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने के लिए मेक इन इंडिया के तहत बड़े पैमाने पर बुलेट प्रूफ जैकेट, ड्रोन, लड़ाकू विमान, हेलीकॉप्टर, तोप और उसके गोले, मिसाइल, विभिन्न तरह की बंदूकें आदि बनाने के लिए केंद्र सरकार के रक्षा मंत्रालय ने अलग-अलग जिलों में डिफेंस कॉरिडोर की स्थापना का फैसला दो साल पहले लिया था।

up goverment
up goverment

कॉरिडोर की स्थापना :Uttar Pradesh

बता दें इसके लिए राज्य सरकार अलीगढ़, आगरा, झांसी, चित्रकूट, कानपुर और लखनऊ में डिफेंस कॉरिडोर की स्थापना कर रही है। इनकी स्थापना की जिम्मेदारी उप्र एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीडा) को दी गई है। प्राधिकरण ने अलीगढ़ में 15 और कानपुर के साढ़ में एक कंपनी को भूमि आवंटित कर दी है।

up goverment
up goverment

कॉरिडोर में निवेश के लिए

डिफेंस कॉरिडोर में निवेश के लिए सौ से अधिक कंपनियां तैयार हैं। 30 से अधिक कंपनियों से करार भी हो चुका है। ये कंपनियां 50 हजार करोड़ से ज्यादा का निवेश करेंगी। अलीगढ़ में 15 कंपनियों को भूमि का आवंटन भी हो चुका है। कानपुर के साढ़ में प्रस्तावित कॉरिडोर में कुंग आर्मर कंपनी को भूमि आवंटित हो चुकी है। साढ़ में निवेश के लिए छह कंपनियों को जल्द भूमि आवंटित की जाएगी।

UPMRC: यूपी मेट्रो में इन विभिन्न पदों पर निकली बंपर वैकेंसी, तनख्वाह भी शानदार

रुकेगा पलायन

रक्षा मंत्रालय 101 रक्षा उत्पादों का उत्पादन आत्मनिर्भर भारत और मेक इन इंडिया के तहत कराना चाहता है। नौसेना की जरूरतों के हिसाब से रक्षा उत्पाद बनाने के लिए प्राधिकरण ने नौसेना की नेवल इनोवेशन एंड इंडिजिनाइजेशन आर्गनाइजेशन से भी अनुबंध किया है। डिफेंस कॉरिडोर रोजगार और औद्योगिक विकास के क्षेत्र में अहम भूमिका अदा करेंगे। पढ़े-लिखे युवाओं को नौकरी की तलाश में शहरों की ओर पलायन नहीं करना पड़ेगा।

94 औद्योगिक इकाइयां होंगी

कानपुर के साढ़ में प्रस्तावित कॉरिडोर की स्थापना 213.5304 हेक्टेयर में हो रही है। यहां 94 औद्योगिक इकाइयां होंगी। आइआइटी कानपुर और आइआइटी बीएचयू जैसे प्रतिष्ठित संस्थान कॉरिडोर स्थापना में मददगार करेगा। दोनों शिक्षण संस्थानों के साथ प्राधिकरण ने सेंटर फॉर एक्सीलेंस बनाने के लिए करार किया है।

कहां-कितनी ली गई भूमि

जिला भूमि चाहिए उपलब्ध है
झांसी : प्रथम चरण 889.0238- 861.2040, द्वितीय चरण 197.1420- 168.7937
चित्रकूट : 102.8060- 98.4580
अलीगढ़ : प्रथम चरण 52.9894- 51.7820, द्वितीय चरण 23.3080- 21.9300
कानपुर नगर : 213.5304- 174.2960

अपना उत्तर प्रदेश || Uttarpradesh News || Livenews | Jantantra TV LIVE

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *