500 करोड़ ₹ से ज्यादा विदेशी निवेश के प्रस्ताव आये, संसाधन सुरक्षा देने को यूपी तैयार

uttarpradesh government is ready to provide resources facilities and security to investors
uttarpradesh government is ready to provide resources facilities and security to investors

नई दिल्ली :  विदेशी निवेशक राज्य में बेखौफ होकर प्रभावी तरीके से कारोबार कर सकते हैं. ये बातें उत्तर प्रदेश के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने सोमवार रात प्रवासी भारतीयों की प्रतिष्ठित संस्था पीआईओ चैंबर ऑफ कॉमर्स के एक ग्लोबल वेबिनार में कहीं. वह कनाडा, अमेरिका, यूके, यूरोप, अफ्रीका, सिंगापुर व ऑस्ट्रेलिया के निवेशकों को संबोधित कर रहे थे. उत्तर प्रदेश सरकार का कहना है कि वह राज्य में निवेश करने वालों को संसाधन, सुविधाएं और सुरक्षा देने के लिए तैयार है.

uttarpradesh government is ready to provide resources facilities and security to investors
uttarpradesh government is ready to provide resources facilities and security to investors

मोदी की वजह से बढ़ा सम्मान-

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की वजह से विश्व में भारत का सम्मान बढ़ा है. इस कारण विदेशी निवेशक उत्तर प्रदेश में भी कारोबार के लिए आकर्षित हो रहे हैं. आगे कहा कि प्रदेश सरकार निवेशकों को संसाधन, सुविधाएं और सुरक्षा देने के लिए तैयार हैं. योगी सरकार की पारदर्शी नीतियों के तहत वे बेखौफ होकर उत्तर प्रदेश में प्रभावी तरीके से कारोबार कर सकते हैं.

शिक्षा और तकनीक के लिए निवेश प्रस्ताव-

वैंकूवर कनाडा के चार्टर्ड अकाउंटेंट विजय गुप्ता ने उत्तर प्रदेश के बांदा जिले में शिक्षा के क्षेत्र में निवेश का प्रस्ताव दिया. यूरोप की सेजल कोठारी व जूली देसाई ने उत्तर प्रदेश में टेक्नोलॉजी हब बनाने का प्रस्ताव दिया. भारतीय मूल के सबसे बड़े अफ्रीकी किसान केवल बोडा सिंह ने उत्तर प्रदेश में कृषि क्षेत्र में निवेश में रुचि दिखाई.

वेबिनार में मौजूद रहे ये लोग-

वेबिनार में कनाडा स्थित ब्रिटिश कोलंबिया इंडिया नेटवर्क के चेयरमैन विवेक सावकुर, निवेश से सम्बंधित केंद्र सरकार की संस्था इन्वेस्ट इंडिया के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट सिद्धार्थ आनंद समेत नोएडा अथॉरिटी के चेयरमैन आलोक टंडन, औद्योगिक विकास विभाग के एडिशनल चीफ सेक्रेटरी आलोक कुमार व पीआईओ चैंबर के पदाधिकारी मनीष खेमका, अनूप गुप्ता, मुनीश गुप्ता व अभय अग्रवाल समेत अनेक प्रतिष्ठित प्रवासी भारतीय मौजूद थे.

 

Leave a comment

Your email address will not be published.