UP : बजट सत्र शुरू, पहले ही दिन सपा ने किया हंगामा, बागी विधायक स्पीकर से मिले

यूपीः बजट सत्र शुरू
यूपीः बजट सत्र शुरू

नई दिल्ली : आज से उत्तरप्रदेश विधानसभा का सत्र शुरु हो गया है। विधानसभा के बजट सत्र के पहले ही दिन प्रदेश में विपक्षी पार्टियों द्वारा सत्ताधारी पार्टी नीतियों का जमकर विरोध किया गया है। समाजवादी पार्टी के विधायक विधानसभा में ट्रक, साईकिल और ट्रैक्टर के जरिए पहुंचे, जिससे वहां अव्यवस्था पैदा हो गई। कुछ विधायक गन्ना लेकर विधानसभा के गेट पर चढ़ कर गन्ना किसानों के भुगतान की मांग करते हुए दिखे। वहीं सरकार ने दावा किया है कि उसने किसानों का गन्ना भुगतान कर दिया है।

यूपीः बजट सत्र शुरू
यूपीः बजट सत्र शुरू

Unnao: नाबालिग लड़की की मौत बनी Mystery || 2 Girls, Cousins Found dead in UP Field

बजट सत्र में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल दोनों सदनों को कर रही संबोधित

आपको बता दें कि राज्यपाल आनंदीबेन पटेल दोनों सदनों को संबोधित कर रही हैं। वहीं सत्र शुरू होने से पहले ही समाजवादी पार्टी के विधायकों ने पेट्रोल-डीजल के दामों में हुई बढ़ोतरी का विरोध किया। बहुजन समाज पार्टी के 7 बागी विधायकों ने स्पीकर से मुलाकात भी की है। विधानसभा की गेट में विपक्ष के नेता रामगोविंद चौधरी की अगुवाई में सपा विधायकों ने प्रदर्शन किया गया। सपा नेताओं का आरोप है कि प्रदेश में कानून-व्यवस्था की स्थिति ठीक नहीं है। साथ ही सपा ने किसानों का मुद्दा और पेट्रोल-डीजल के दामों में हुई बढ़ोतरी का मसला भी उठाया। सपा ने कहा कि योगी सरकार हर मोर्च पर फेल साबित हुई है।

यूपीः बजट सत्र शुरू
यूपीः बजट सत्र शुरू

समाजवादी पार्टी 2022 में नहीं जीती तो खत्म हो जायेगा लोकतंत्र- अखिलेश यादव

वहीं, इससे पूर्व सपा के अन्य विधायक और कार्यकर्ता ट्रैक्टर से विधानसभा जा रहे थे जिनको पुलिस द्वारा रोक लिया गया था। इस पर सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार किया भी किया है। हालांकि, गिरफ्तारी को लेकर लखनऊ पुलिस की ओर से अभी कोई बयान जारी नहीं किया गया है। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने साथ में कहा कि ‘चाहे केंद्र की ‘कील ठोको’ भाजपा सरकार हो या उप्र की ‘ठोको’ भाजपा सरकार, ये किसान आंदोलन के साथ खड़े जन-समर्थन से डरकर किसानों के प्रतीक तक से भयभीत हैं, इसीलिए उप्र विधानसभा सत्र में ‘ट्रैक्टर’ से विधानसभा जा रहे सपा के विधायक-कार्यकर्ताओं की गिरफ़्तारी की गयी है। निंदनीय!

Leave a comment

Your email address will not be published.