पहाड़ों में तेज बारिश के साथ छाये रहेंगे काले बादल, आकाशीय बिजली गिरने की चेतावनी

magnitude-5-3-intensity-earthquake-strikes-35-km-east-of-pokhara-in-nepal
magnitude-5-3-intensity-earthquake-strikes-35-km-east-of-pokhara-in-nepal

देहरादून : उत्तराखंड में बारिश और ओलावृष्टि से पर्वतीय क्षेत्रों में जनजीवन प्रभावित है। गुरुवार को भी बारिश का सिलसिला बना रहा। देहरादून जिले की त्यूणी तहसील में मकान की चहारदीवारी गिरने से मलबे में दबकर एक व्यक्ति की मौत हो गई। इसके अलावा उत्तरकाशी जिले के सुदूरवर्ती क्षेत्र मोरी ब्लाक में आसमानी बिजली की चपेट में आने से भाई-बहन जख्मी हो गए। मौसम विभाग के अनुसार 16 मई तक मौसम के मिजाज में बदलाव की संभावना नहीं है। शुक्रवार को भी पर्वतीय क्षेत्रों में तेज बौछारों के साथ कहीं-कहीं आकाशीय बिजली गिरने की भी आशंका है।

ttarakhand-weather-update-possibility-of-lightning-with-heavy-showers-in-uttarakhand 71131
ttarakhand-weather-update-possibility-of-lightning-with-heavy-showers-in-uttarakhand 71131

हो रहा नुकसान

देहरादून जिले में त्यूणी तहसील क्षेत्र के रायगी गांव में मकान की निर्माणाधीन चहारदीवारी धराशायी हो गई। इससे एक दूसरा मकान क्षतिग्रस्त भी हो गया। इसी मकान में रह रहे भोपाल सिंह (51 वर्ष) की मलबे में दबने से मौत हो गई, जबकि उनकी पत्नी और दो बच्चों ने भाग कर जान बचाई। घटना सुबह सात बजे की बताई जा रही है। क्षेत्र में बुधवार रात से बारिश हो रही थी।

आखिर क्यों धरती पर गिरती है आसमानी बिजली, रहस्य जानकर रह जाएंगे हैरान

आकाशीय बिजली गिरने की सम्भावना

दूसरी ओर उत्तरकाशी जिले में लिवाड़ी गांव की जयदेवी अपने छोटे भाई जगवीर के साथ मवेशियों को लेकर जंगल गई। इस बीच तेज बारिश के साथ आकाशीय बिजली की चपेट में आने से दोनों घायल हो गए। वहीं एक बछड़े की झुलसने से मौत हो गई। ग्रामीण दोनों घायलों को लेकर गांव पहुंचे और प्रशासन को सूचना दी। उपजिलाधिकारी सोहन सिंह सैनी ने बताया कि दोनों को गांव में ही उपचार दिया गया। दोनों की स्थिति अब सामान्य हैं।

बर्फ़बारी और ओलावृष्टि

गुरुवार को दोपहर बाद बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री में बर्फबारी हुई। वहीं निचले इलाकों पौड़ी, रुद्रप्रयाग, चमोली, पिथौरागढ़ और अल्मोड़ा में कई स्थानों पर बारिश हुई। मसूरी में ओलावृष्टि से मौसम सर्द हो गया है।

बारिश के साथ ओलावृष्टि

कुमाऊं के पर्वतीय इलाकों में बारिश व ओलावृष्टि का क्रम जारी है। बागेश्वर के गरुड़, कपकोट, बागेश्वर के कई हिस्सों में बारिश के साथ ओलावृष्टि भी हुई। सरोवर नगरी नैनीताल में दोपहर तक बारिश होती रही। लगातार हो रही बारिश से नैनी झील का जलस्तर भी सामान्य से साढ़े सात इंच तक बढ़ गया है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *