पतंजलि, डाबर सहित कई कंपनियों पर मिलावट का आरोप, CSE द्वारा लिए गए सैंपल हुए फेल

top brands are selling adultered honey in india
top brands are selling adultered honey in india

नई दिल्ली : सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायरमेंट (CSE) ने देश में ब्रांडेड शहद की जांच की है। पतंजलि, डाबर, बैद्यनाथ और झंडू जैसे मशहूर ब्रांड्स के शहद टेस्ट में फेल हो गए हैं। CSE की जांच में इन कंपनियों के शहद में 77% मिलावट पाई गई है। CSE की ओर से शहद की मिलावट को लेकर एक रिपोर्ट जारी की गई थी, जिसमें बताया गया था कि आजकल कई बड़े ब्रांड शहद में मिलावट कर रहे हैं.

top brands are selling adultered honey in india
top brands are selling adultered honey in india

रिपोर्ट में शुगर की मिलावट-

CSE की ओर से एक रिपोर्ट जारी की गई थी, जिसमें CSE की महानिदेशक सुनीता नारायण ने बताया कि भारतीय बाजारों में बिक रहे शहद के लगभग सभी ब्रांडों में जबरदस्त तरीके से शुगर सिरप की मिलावट हो रही है. आपको बता दें इसी संगठन ने वर्ष 2003 और 2006 के दौरान सॉफ्ट ड्रिंक में कीटनाशक की उपस्थिति का खुलासा किया था.

पतंजलि ने कहा झूठे हैं आरोप-

इस खबर का खंडन करते हुए डाबर और पतंजलि ने कहा कि यह दावे प्रेरित लगते हैं और इनका लक्ष्य कंपनी की छवि को खराब करना है. इसके अलावा कंपनियों ने कहा कि उनकी तरफ से बेचे जा रहे शहद पूरी तरह से असली हैं. इसके साथ ही उनको प्राकृतिक चीजों से तैयार किया जाता है और इसमें किसी भी तरह की चीनी की मिलावट नहीं की जाती है.

पतंजलि आयुर्वेद के मैनेजिंग डारेक्टर आचार्य बालकृष्ण ने भी कहा कि यह सिर्फ हमारे प्रोडक्ट को बदनाम करने की साजिश है, जिससे प्रोसेस्ड शहद का प्रचार किया जा सके. इसके अलावा उन्होंने कहा कि हमारे यहां कैपिटल और मशीनरी की मदद से 100 फीसदी शुद्ध शहद बनाया जाता है. इसके अलावा Fssai के सभी मानदंडों को पूरी सफलता के साथ पास किया जाता है.

 

Leave a comment

Your email address will not be published.