कुछ किसान नेता चाहते हैं बातचीत द्वारा समाधान न निकले: टिकैत

tikait on kisan andolan
tikait on kisan andolan

नई दिल्ली: केंद्र सरकार और किसानों के बीच लगातार विफल हो रही वार्ता के बाद भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत ने कुछ किसान नेताओं पर सवाल खड़े किए हैं. यूपी गेट पर जारी आंदोलन में पहुंचे टिकैत ने कहा कि कुछ किसान नेता ऐसे हैं जो सरकार के साथ बातचीत को सफल नहीं होने देते. बैठक में यदि सभी सरकार की बात से सहमत भी हों तो दो-तीन नेता उससे असहमति जता देते हैं।

tikait on kisan andolan
tikait on kisan andolan

किसान विवाद नहीं, समाधान चाहता है-

यूपी गेट आंदोलन स्थल के मंच पर नरेश टिकैत ने कहा कि किसान विवाद नहीं, समाधान चाहता है. यही वजह है कि अपनी मांगों को कई बार ठुकराने के बावजूद वह सरकार के बुलावे पर हर बार वार्ता के लिए पहुंच रहा है. सरकार से वार्ता के लिए 40 किसानों की कमेटी बनाई गई है. इनमें से कुछ लगातार समाधान के बीच रोड़ा बन रहे हैं, पता चलना चाहिए कि वह कौन लोग हैं, इन नेताओं को चिह्नित कर समझाया जाएगा या विचार विमर्श कर वार्ता कमेटी से बाहर किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी की आपातकालीन बैठक सोमवार को होगी. यह कहां होगी, इसका निर्णय जल्द हो जाएगा. बैठक में यूपी गेट आंदोलन स्थल के अलावा सिघु बार्डर व टिकरी बार्डर के आंदोलनरत किसान नेता भी शामिल रहेंगे. इसमें आंदोलन को लेकर तमाम महत्वपूर्ण मुद्दों के साथ ही अगली रणनीति तय की जाएगी।

नरेश टिकैत ने कहा कि हम गणतंत्र दिवस पर कोई तोड़फोड़ नहीं चाहते. हम नहीं चाहते कि किसानों का नाम इस मौके पर कलंकित हो. हम अपने लोगों को समझा लेंगे, लेकिन सरकार चार ट्रैक्टरों को झांकी के रूप में टैंकों के साथ चलने की इजाजत दे ताकि हम झांकी के जरिये अपनी बात देश के सामने रख सकें।

 

Leave a comment

Your email address will not be published.