टेस्ट चैम्पियनशीप: न्यूजीलैंड के किन खिलाड़ियों पर होगी नजर, किस टीम का पलड़ा भारी 

test championship

 नई दिल्ली: कोरोना की वजह से indian premier league (आईपीएल) बीच में ही रद्द कर दिया गया था. लेकिन एक बार फिर इस संकट भरे दौर में क्रिकेट लौट रहा है. हर क्रिकेट प्रेमी के मन में फिर कुछ उम्मीद जगी है कि क्रिकेट उनके चेहरे पर मुस्कान वापस लाएगा. इस बार क्रिकेटप्रेमियों के लिए मौका भी कुछ खास है. कोरोना शुरू होने से पहले जिस वर्ल्ड टेस्ट मैच चैम्पियनशिप का आगाज हुआ था अब उसका फाइनल 18 जून को इंग्लैंड के साउथैम्पटन ग्राउंड में खेला जाना है. फाइनल मुकाबले में भारत और न्यूजीलैंड की टीमें आमने-सामने होंगी. एक तरफ अग्रेसिव विराट कोहली हैं और दूसरी तरफ ठंडे दिमाग से काम लेने वाले केन विलियमसन, सबसे बड़े मुकाबले में एक-दूसरे को हराने की कोशिश है. इस महामुकाबले पर पूरी दुनिया की नजरें टिकी हैं.

KOHLI AND KANE

टेस्ट चैम्पियनशिप का सफर

टेस्ट चैम्पियनशिप का आगाज साल 2019 में एक अगस्त से हुआ, जिसमें कुल 9 टीमों ने 23 टेस्ट सीरीज खेली. तय किया गया कि हर टीम को तीन सीरीज घर में और तीन सीरीज विदेश में खेलने का मौका मिलेगा. दो साल के बाद जो दो टीमें रैंकिंग में टॉप में रहेंगी, उन्हीं के बीच फाइनल खेला जाएगा. जिन 9 टीमों का चयन किया गया उसमें ऑस्ट्रेलिया, बांग्लादेश, इंग्लैंड, भारत, न्यूजीलैंड, पाकिस्तान, साउथ अफ्रीका, श्रीलंका और वेस्टइंडीज शामिल थीं. एक टीम को 6 टीम के साथ सीरीज खेलनी थी, वो सीरीज चाहे 2 मैच की हो या 5 मैच की सीरीज हो.

आईसीसी की ओर से प्वाइंट सिस्टम के नियम तय कर दिए गए, चैम्पियनशिप में पिंक बॉल यानी डे-नाइट टेस्ट को भी शामिल किया गया. और इन्हीं दिलचस्प नियमों के बीच दो साल तक टेस्ट चैम्पियनशिप खेली गई.

CRICKET
 टेस्ट क्रिकेट में भारत बनाम न्यूजीलैंड

टेस्ट क्रिकेट में अगर भारत बनाम न्यूजीलैंड के रिकॉर्ड की बात करें, तो दोनों के बीच साल 1955 से टेस्ट मैच खेले जा रहे हैं. अभी तक दोनों टीमों ने आपस में कुल 59 टेस्ट मैच खेले हैं. जिसमें. भारत ने कुल 21 टेस्ट मैच में जीत हासिल की है, जबकि न्यूजीलैंड 12 मैच में जीत पाया है. दोनों के बीच खेले गए 26 टेस्ट मैच ड्रॉ रहे हैं.

न्यूजीलैंड के किन खिलाड़ियों पर होगी नजर

अगर न्यूजीलैंड की बात करें, तो कीवी टीम इस बार भी शानदार गेंदबाजी स्क्वॉड के साथ मैदान में होगी, तो वहीं केन विलियमसन और रॉस टेलर जैसे काबिल बल्लेबाज भी उसके पास मौजूद रहेंगे. न्यूजीलैंड के पास अभी टॉम लैथम, टॉम ब्लंडल जैसे ओपनर बल्लेबाज हैं. हाल ही के वक्त में दोनों ने ही कीवी टीम को शानदार शुरुआत दी है. इसके बाद खुद कप्तान केन विलियमसन का नंबर है, जिनकी गिनती दुनिया के सबसे बेहतरीन बल्लेबाजों में से होती है.

न्यूजीलैंड का मिडिल ऑर्डर भी टीम इंडिया की तरह ही मजबूत है, जहां दिग्गज रॉस टेलर चौथे नंबर पर कमान संभालते हैं. इसके अलावा हेनरी निकोल्स, बीजे वॉटलिंग भी लोअर मिडिल ऑर्डर में हैं.

न्यूजीलैंड की गेदबाजी की बात करें तो ये टीम इंडिया के लिए सबसे बड़ा चुनौती है. क्योंकि इंग्लैंड की कंडीशन ज्यादा न्यूजीलैंड के लिए आरामदायक होंगी. वहीं, न्यूजीलैंड के पास ट्रेंट बोल्ट, टिम साउदी, नील वैगनर, काइल जैमिसन जैसे तेज गेंदबाज हैं, तो वहीं मिशेल सैंटनर जैसा स्पिनर भी है.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *