इस दिवाली पर हजारों नोटों से सजाया गया कानपुर का ये मन्दिर…

Temple decorated with currency
Temple decorated with currency

नई दिल्ली : लॉकडाउन के दौरान देश की जनता के बीच आर्थिक मार भले ही लोगों के मन को मायूस कर रही हो लेकिन कानपुर के सुप्रसिद्ध मंदिर में मां वैभव लक्ष्मी एक बार फिर से अपने भक्तों के चेहरे में मुस्कान और आंखों में चमक ला रही है जी हां यह कोई अद्भुत चमत्कार से कम नही है और न ही देश के किसी कोने में ऐसा नजारा देखने को मिलेगा क्योंकि धन की देवी मां वैभव लक्ष्मी के मंदिर को नोटों से सजाया गया है जिसमे सात लाख रुपये से अधिक नोट मंदिर के चप्पे चप्पे पर लगाये गए हैं जिसमें दस रुपये से लेकर दो हजार के नोट शामिल हैं अब आप भी सोच रहें होंगे कि आखिर ऐसा क्यों किया गया.

Temple decorated with currency
Temple decorated with currency

इसलिए लगाये गये हैं नोट-

आपको बतातें चलें कि हिंदुत्व के सबसे बड़े त्योहार दीपावली इस बार थोड़ा मायूसी भरी रहेगी रिवाज के अनुसार घरों में लक्ष्मी गणेश को विराजमान भी किया जाएगा और पूजा अर्चना के दौरान रौशनी भी की जाएगी लेकिन कोरोना काल के चलते बच्चों की खुशियों पर लगी पाबंदी पूर्व की खुशियां नही ले पायेगा इसीलिए लोगों को धन की वर्षा करने वाली महादेवी मां वैभव लक्ष्मी के प्रांगण को नोटो से सजाकर एक आकर्षण का केंद्र बनाया जा रहा है

सौ साल पुराना है मन्दिर-

मंदिर के इतिहास की बात करें तो कानपुर के बिरहाना रॉड में मंदिर स्थापित है और मान्यता है कि आज से सौ सालों पहले इस मंदिर में भगवान शंकर और राधा कृष्ण की पूजा अर्चना की जाती रही है तभी साल 2000 में चैत्र माह में मा वैभव लक्ष्मी मूर्ति स्थापित की गई जिसके बाद देर रात्रि माँ की शक्ति स्वम देखने को मिली जिन्होंने कहाँ कि उनके दान पात्र में एकर्तित होने वाला धन भक्तों के बीच प्रसाद के रूप में बाट दिया जाए जिसके बाद से हर नवरात्रों को यहां मा वैभव लक्ष्मी का प्रसाद वितरित होता है जिसको पाने के लिए हजारों लोगों की भीड़ देर रात से लगना शुरू हो जाती है।

Leave a comment

Your email address will not be published.