न मंडी चाहिए न एमएसपी, ये किसान सहकारिता से संवार रहे अपनी किस्मत

power of cooperation no mandi no msp

दिल्ली: एक कुशल नेतृत्व के साथ 131 गांवों के 10,500 किसान साथ मिलकर अपने खेत से निकले फल और सब्जियां नासिक, पुणे और मुंबई सहित 42 देशों तक पहुंचाकर अपनी किस्मत सुनहरे अक्षरों से लिख रहे हैं। इन्हें किसी सरकार के सामने हाथ फैलाने की जरूरत महसूस नहीं होती। संगठन से संवरी किस्मत- विलास शिंदे… Continue reading न मंडी चाहिए न एमएसपी, ये किसान सहकारिता से संवार रहे अपनी किस्मत