मेरठ की डेढ़ साल की मासूम को दुर्लभ बीमारी, लगेगा करोड़ों का इंजेक्शन, PM मोदी से लगाई गुहार

Spinal Muscular Atrophy disease
Spinal Muscular Atrophy disease

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के मेरठ में ब्रह्मपुरी की डेढ़ साल की ईशानी भी दुर्लभ बीमारी एसएमए टाइप टू (स्पाइनल मस्कुलर एट्राफी) से जूझ रही है। इस मासूम बच्ची का इलाज 22 करोड़ रुपये के जोल्जेंसमा इंजेक्शन से ही मुमकिन है, लेकिन इतनी बड़ी धनराशि जुटा पाना निम्न मध्यवर्गीय परिवार के लिए संभव नहीं है। इसके लिए परिवार ने डोनेशन के लिए इंटरनेट पर लिंक भी जारी किया है। साथ ही इंटरनेट मीडिया पर ईशानी को बचाने के लिए पोस्ट साझा किए हैं। हालांकि अभी तक कोई ठोस मदद नहीं मिली है।

Spinal Muscular Atrophy disease
Spinal Muscular Atrophy disease

ऐसा मुजरिम जो गुनाह के बाद मस्जिदों में लेता था पनाह, अब मेरठ पुलिस ने मारी गोली

वाकर के सहारे स्वजन चलाने का प्रयास

मेरठ शहर के ब्रह्मपुरी में मास्टर कालोनी गली नंबर तीन निवासी अभिषेक वर्मा दिल्ली के द्वारका स्थित एसएसजी लाजिस्टिक कंपनी में साफ्टवेयर टेस्टिंग एग्जीक्यूटिव पद पर कार्यरत हैं। मां नीलम गृहणी हैं। काम के सिलसिले में अभिषेक द्वारका में ही विजय एन्क्लेव में रहते हैं। अभिषेक ने बताया कि ईशानी का जन्म 27 अगस्त, 2019 को हुआ था। जन्म के समय वह सामान्य बच्चे की तरह थी, लेकिन जैसे-जैसे समय बीता उसकी परेशानी उभरने लगी। जब वह आठ-नौ माह की थी, तब उसे वाकर के सहारे स्वजन चलाने का प्रयास करते तो वह आगे नहीं बढ़ती। सहारे से बैठाने पर उसका सिर नीचे हो जाने पर वह स्वत: दोबारा सिर ऊपर नहीं कर पाती।

Spinal Muscular Atrophy disease
Spinal Muscular Atrophy disease

जटिल बीमारी से ग्रसित

अभिषेक के अनुसार इस बीमारी के निदान के लिए स्वजन ने मेरठ के विभिन्न चिकित्सकों को दिखाया। पल्लवपुरम स्थित डॉ. एमके गुलाटी के पास भी गए। जहां उन्होंने ईशानी को किसी जटिल बीमारी से ग्रसित होने का अंदेशा जताया, लेकिन तब तक कोरोना काल शुरू होने के चलते उसे कहीं बाहर नहीं दिखा सके। बाद में जब स्थितियां थोड़ी सामान्य हुईं तो 26 दिसंबर को एम्स दिल्ली ले गए। जहां उन्हें जुलाई माह का समय दिया गया, लेकिन उसकी हालत को देखते हुए उसे सर गंगाराम अस्पताल दिल्ली ले गए। वहां ईशानी को पीडियाट्रिक न्यूरोलाजिस्ट डॉ. प्रवीन कुमार ने देखा। उनके परामर्श पर कराई जांच में 12 जनवरी को ईशानी में एसएमए टाइप टू की पुष्टि हुई।

Leave a comment

Your email address will not be published.