दिल्ली पुलिस के SHO की नई पहल, आरकेपुरम में गरीब बच्चों के लिए खोली लाइब्रेरी

नई दिल्लीः वैसे तो पुलिस का काम लोगों की सुरक्षा करना है लेकिन कई बार पुलिस अपने कर्तव्य से भी ऊपर उठ कर लोगों की भलाई के लिए पहल करती है। ऐसा ही कुछ दिल्ली के आरकेपुरम थाने में SHO राजेश कुमार ने किया है। राजेश कुमार ने थाने में एक लाइब्रेरी की शुरुआत की है। जिसमें गरीब बच्चे आकर पढ़ाई करते हैं। SHO की ये पहल लोगों को बेहद पसंद आई।

SHO राजेश कुमारबता दें की आरके पुरम के आसपास गरीब इलाकों से बच्चे थाने की इस लाइब्रेरी में पढ़ने के लिए आते हैं। गरीब बच्चे थाने की लाइब्रेरी में अपनी पसंद की किताब पढ़ते हैं। इतना ही नहीं किताब पढ़ने या कुछ समझाने में पुलिस अफसर भी बच्चों की मदद करते हैं।

केजरीवाल सरकार का निर्देश- Delhi Police नहीं कर पाएगी DTC बसों का इस्तेमाल

SHO की नई पहल-

SHO राजेश कुमार ने इस पहल के बारे में बताते हुए कहा कि पुलिस और पब्लिक के बीच एक सकारात्मक संबंध बनाने में मदद करना, युवाओं को सड़क सुरक्षा व यातायात प्रबंधन में शामिल करना, बिना किसी भय व संकोच के ज्यादा से ज्यादा बेहतर जानकारी प्राप्त करने के लिए पुलिस और थाने से संपर्क करने के लिए लोगों को प्रोत्साहित करना इसका उद्देश्य है।

गौतमबुद्ध नगर के ग्रेटर नोएडा वेस्ट में पुलिस ने गिरफ्तार किया गांजा तस्कर

एक साथ पढ़ सकते हैं 100 बच्चे

आपको बता दें SHO राजेश कुमार का कहना है कि ‘लाइब्रेरी के जरिये रचनात्मक गतिविधियों में जनता को शामिल करना, प्रतिस्पर्धी माहौल में पढ़ाई के लिए जगह उपलब्ध कराना, युवाओं को करियर काउंसलिंग मुहैया कराना, छात्रों को उच्च शिक्षा के लिए प्रवेश परीक्षाओं में भाग लेने के लिए तैयारी करने में मदद की जाती है।’दिल्ली पुलिस की इस पब्लिक लाइब्रेरी में कुल 100 छात्र बैठकर पढ़ सकते हैं। यहां प्रतियोगी परीक्षा से जुड़ीं 2300 पुस्तकें, 1900 से अधिक पुरानी पत्रिकाएं भी उपलब्ध हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.