बुजुर्ग महिला गयी थी कोरोना टीका लेने, स्वास्थ्य विभाग ने लगा दिया ऐंटी रेबीज का टीका

Shamli
Shamli

नई दिल्लीः Shamli: देश में कोरोना थमने का नाम नहीं ले रहा तो सरकार भी वैक्सीन की रफ्तार को तेज किये हुए है। देश में कोरोना वैक्सीन लगवाने की उम्र 45 वर्ष कर दी गयी है। जिसके बाद से घर के बड़े-बुजुर्ग कोरोना वैक्सीन का टीका लगवा रहे हैं। इस बीच उत्तर प्रदेश के शामली जिले से गजब का मामला सामने आया है जहाँ कोरोना का टीका लगवाने गई तीन वृद्ध महिलाओं को रेबीज का टिका लगा दिया। एक वृद्ध महिला की हालत वहीं पर गंभीर हो जाने के बाद स्वास्थय केन्द्र की लापरवाही उजागर हो गई। जिसे लेकर परिजनों ने जमकर हंगामा कर सीएमओं(Shamli CMO) को मामले की शिकायत कर कार्रवाही की मांग की गई। लेकिन स्वास्थ्य विभाग अपनी इस बड़ी लापरवाही को अब छिपाने में जुटा है।

Shamli: कर्मचारीयों की लापरवाही

कोरोनो वैक्सीन टिकाकरण के लिए प्रदेश सरकार करोडों रूपये खर्च कर आमजन को जागरूक करने में जुटी हुई है। लेकिन कांधला सामुदायिक स्वास्थय केन्द्र को कोरोनो व रेबीज के टीके में ही अन्तर ही नही समझ आ रहा। सामुदायिक स्वास्थय केन्द्र में आय दिन प्रसव व विभिन्न स्वास्थय सेवाओं को लेकर कर्मचारीयों की लापरवाही सामने आती रहती है। लेकिन उसके बाद भी स्वास्थय विभाग अपनी कारगुजारीयों से सबक लेकर सुधार की पटरी पर लौटने की कोशिश नहीं करता। शामली के कांधला सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर गुरूवार को कांधला निवासी 70 वर्षीय सरोज, 72 वर्षीय अनारकली, 60 वर्षीय सत्यवती सामुदायिक स्वास्थय केन्द्र में कोरोना की पहली वैक्सीन लगवाने के लिये पंहुची थी।

Shamli
Shamli

वृद्ध महिला की हालत बिगड़ गई

आरोप है कि जैसे ही महिलायें स्वास्थय केन्द्र पर उपस्थित कर्मचारीयों के पास वैक्सीन के लिये पंहुची तो स्वास्थय कर्मचारीयों ने तीन महिलाओं को बाहर से 10-10 रूपयें की खाली सिरिंज मंगाकर रेबिज का टीका लगाकर अपने-अपने घर चले जाने को कह दिया। शिक्षा का अभाव होने पर महिलायें अपने घर वापस आ गई। आरोप है कि इसी बीच वृद्ध महिला सरोज की हालत बिगड़ गई। महिला को तेज चक्कर आने के बाद घबराहट शुरू हो गई। परिजनों ने आनन-फानन में प्राईवेट चिकित्सक के पास उपचार कराने के लिये ले गए और चिकित्सक को स्वास्थय केन्द्र की पर्ची दिखाकर कोरोना वैक्सीन लगवाने का हवाला दिया तो प्राईवेट चिकित्सक स्वास्थय केन्द्र पर्ची देखकर हैरान रह गया।

Shamli

पिछले कई दिनों से सारे रिकॉर्ड तोड़ते नज़र आ रहा है। 

प्राईवेट चिकित्सक ने महिला के परिजनों को बताया कि स्वास्थय केन्द्र पर महिला को रेबिज का टिका लगाया गया है। तीनों महिलाओं के परिजनों ने मामले की जांच पड़ताल की तो सामुदायिक स्वास्थय केन्द्र के कर्मचारीयों की पोल खुल गई। स्वास्थय केन्द्र पर तीनों वृद्ध महिलाओं को कोरोना वैक्सीन के स्थान पर रेबिज का टीका लगा दिया। मामले को लेकर पीड़ित महिलाओं के परिजनों ने हंगामा करते हुए सीएमओ शामली संजय अग्रवाल को मामले की शिकायत करते हुए कार्रवाही की मांग की है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *