हिन्दू कोई धर्म नहीं, 300 लोगो के साथ बनूँगा सिख- जाट नेता सांगवान

sangwan-said-i-will-become-sikh-from-hindu-with-300-people
sangwan-said-i-will-become-sikh-from-hindu-with-300-people

नई दिल्ली : तीन कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे आंदोलन के मंच से जब-तब विवादित टिप्पणियां सामने आ रही हैं। अब हरियाणा में जाट आरक्षण आंदोलन के समय सुर्खियों में रहे सीआरपीएफ के पूर्व कमांडेंट हवा सिंह सांगवान ने आपत्तिजनक ब्यान दिया है। सोमवार को टीकरी बॉर्डर पर सांगवान बोले कि हिंदू कोई धर्म नहीं है। मैं खुद सैंकड़ों लोगों के साथ सिख धर्म धारण करुंगा।

sangwan-said-i-will-become-sikh-from-hindu-with-300-people
sangwan-said-i-will-become-sikh-from-hindu-with-300-people

 

21 अप्रैल का दिन किया सुनिश्चित

उन्होंने इसके लिए 21 अप्रैल का दिन निश्चित किया और लगभग 300 लोगों के साथ अकाल तख्त अमृतसर पहुंचने की बात कही है। इस पर सभा में मौजूद पंजाब के आंदोलनकारियों के बीच खूब तालियां बजी। सांगवान यही नहीं रुके। बोले..इस आंदोलन को सफल बनाने का मौका 26 जनवरी को था जो गवां दिया। उस दिन दिल्ली को पूरी तरह जाम कर देना चाहिए था। इसीलिए तो लाखों की संख्या में ट्रैक्टर आए थे।

अब फिर से करनी होगी प्लानिंग

8-10 दिन दिल्ली जाम रहती तो सरकार को समझ आ जाती। अब फिर से कोई प्लानिंग करनी पड़ेगी। यहां बैठने से कुछ नहीं होगा। यहां बैठे रहना तो हठयोग कहा जाएगा और हठयोग से कुछ हासिल नहीं होता। ऐसे धरने से सरकार मानने वाली नहीं है। सांगवान बोले कि पंजाब के लोग जत्थेबंदी-मोर्चाबंदी से आंदोलन को लंबा चलाते हैं, मगर हरियाणा वाले तो चाहते हैं कि एक दिन में ही सब कुछ हो जाए।

संयुक्त मोर्चे का फैसला नहीं था दिल्ली जाम करना

सांगवान के ब्यान के बाद मंच संचालन कर रहे पंजाब के आंदोलनकारी नेता ने स्पष्ट किया कि दिल्ली जाम करना संयुक्त मोर्चे का फैसला नही था। कोई भी वक्ता ऐसा ब्यान न दे जिससे कोई नया बवाल खड़ा हो जाए। बता दें कि हवा सिंह सांगवान इससे पहले भी कई तरह के विवादित बयान देते रहे हैं। अब वे कृषि कानूनों को लेकर चल रहे धरने पर संबोधित करने पहुंचे थे। उन्‍होंने जिस तरह का बयान दिया है उस पर अब कई तरह की प्रतिक्रियाएं जरूर आएंगी।

Leave a comment

Your email address will not be published.