दो Covid vaccine बनाने के बावजूद भी रूस में कोरोना से हाल बेहाल

russia-counts-single-day-record-covid-19
russia-counts-single-day-record-covid-19

नई दिल्ली : रूस में स्पुतनिक वी कोरोना वैक्सीन के टीकाकरण के बाद भी इतनी बड़ी संख्या में मरीजों के मिलने से राष्ट्रपति पुतिन की चिंता भी बढ़ गई है। संक्रमण की बढ़ती रफ्तार के बाद भी वहां राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन लगाने या व्यापक स्तर पर बाजारों को बंद करने का विरोध हो रहा है। रूस के कोरोना वायरस की दो-दो वैक्सीन बनाने के दावे के बावजूद संक्रमण की रफ्तार दिनों दिन बढ़ती जा रही है। रूस में कोरोना वायरस संक्रमण के 29,935 नए मामले सामने आए हैं जो कि एक दिन में सामने आने वाले मामलों की सर्वाधिक संख्या है।

russia-counts-single-day-record-covid-19
russia-counts-single-day-record-covid-19

रूस में बढ़ रहे कोरोना के केस-

इसी के साथ रूस में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की कुल संख्या 2,963,688 पहुंच गई है। पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के कारण 549 लोगों की मौत हुई है। वहीं देश में इस महामारी से मरने वालों की तादाद 53,096 बताई जा रही है। हालांकि, कई विशेषज्ञों ने पहले ही शक जताया है कि रूस अपने यहां कोरोना के कुल मामलों को छिपाकर गलत आंकड़ा पेश कर रहा है।

दो कोरोना वैक्सीन बने के बाद हालात बेहाल-

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने 11 अगस्त को दुनिया की पहली कोरोना वायरस वैक्सीन स्पुतनिक-वी को बनाने का दावा किया था। इसके बाद अक्टूबर में पुतिन ने दूसरी कोरोना वैक्सीन ‘EpiVacCorona’ को शुरुआती ट्रायल के बाद मंजूरी दी थी। स्पूतनिक-वी वैक्सीन को लेकर पुतिन ने यह भी दावा किया था कि इससे लोगों के ठीक होने की रफ्तार बढ़ी है और उनकी बेटी को खुद इसकी डोज दी गई है। स्पुतनिक वी वैक्सीन का वैक्सीनेशन भी रूस में शुरू हो चुका है। जबकि दूसरी वैक्सीन को अभी ट्रायल फेज में रखा गया है।

Leave a comment

Your email address will not be published.