लालकिले पर सिर्फ झंडा नहीं फहराया, जम कर लूटपाट और तोड़फोड़ भी की थी।

red-fort-union-minister-said-two-ancient-urns-also-disappeared-from-the-premises
red-fort-union-minister-said-two-ancient-urns-also-disappeared-from-the-premises

नई दिल्ली : लाल किले पर देश को शर्मसार करने वाली घटनाओं के साथ उपद्रवियों ने वहां जमकर तोड़फोड़ और लूटपाट भी की। केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने बताया कि उपद्रवियों ने लाल किले की दर्जनों बेशकीमती और पुरातात्विक महत्व की चीजों को नुकसान पहुंचाया है।

red-fort-union-minister-said-two-ancient-urns-also-disappeared-from-the-premises
red-fort-union-minister-said-two-ancient-urns-also-disappeared-from-the-premises

यह नुकसान आर्थिक नुकसान से कहीं ज्यादा है। इसके साथ ही लाल किले की प्राचीर पर रखे प्राचीन कलशों में से दो कलश गायब हैं।

प्राचीन कलस हुए चोरी

खास बात यह है कि ये कलश लाल किले के निर्माण के समय के बताए जाते हैं। इस मामले में एएसआइ (भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण) ने पुलिस में पुरातत्व संरक्षण सहित अलग-अलग धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कराई है। आगे की कार्रवाई अब पुलिस को करनी है। समाचार एजेंसी ने गणतंत्र दिवस का एक वीडियो भी जारी किया है, जिसमें साफ देखा जा रहा है किसानों ने किस तरह लाल किले के परिसर में घुसे और वहां किस तरह से उनके द्वारा जमकर तोड़फोड़ भी की गई।

झांकियों को भी पहुंचाया नुकसान

वहीं, केंद्रीय मंत्री पटेल गुरुवार को गणतंत्र दिवस के दिन उपद्रवियों द्वारा लाल किले को पहुंचाई गई क्षति की जानकारी दे रहे थे। उन्होंने बताया कि उपद्रवियों ने इस दौरान लाल किले के साथ-साथ उस समय परिसर में खड़ी झांकियों को भी नुकसान पहुंचाया जो दर्शकों के अवलोकन के लिए वहां कई दिनों तक रहती हैं। जिन झांकियों को सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है, उनमें उत्तर प्रदेश की राम मंदिर पर आधारित झांकी के साथ संस्कृति मंत्रालय की झांकी भी है।

Leave a comment

Your email address will not be published.