फिटनेस मॉडल रजनी बनीं राष्ट्रीय स्तर चैंपियनशिप में ‘स्वर्ण पदक’ विजेता

Rajni became power lifter
Rajni became power lifter

नई दिल्ली : दिल्ली के उत्तम नगर में रह रही 24 वर्षीय रजनी मल्लाह नाम की युवती ने फिटनेस मॉडल से राष्ट्रीय स्तर का पावर लिफ्टर बनने का सफर तय किया हैं. राज्य स्तर पर आयोजित पावर लिफ्टिंग में दस और राष्ट्रीय स्तर की पावर लिफ्टिंग खेल प्रतियोगिताओं में पांच स्वर्ण पदक जीत चुकी हैं.

Rajni became power lifter

तीन साल के एक छोटे से अंतराल में रजनी मल्लाह ने अपना नाम राष्ट्रीय स्तर की महिला खिलाड़ियों के बीच शुमार कर लिया है. जिस समाज में लड़कियों को घर से बाहर निकलने की आजादी नहीं है, वहीं मल्लाह परिवार की इस बेटी ने अब तक यह देश के एक राज्य से दूसरे राज्य तक की सफर बेखौफ करती है और पदक बटोरती रहती हैं.

हर दिन कड़ी अभ्यास करती है-

देश की सरकारों ने पावर लिफ्टिंग को आगे बढ़ाया तो निश्चित तौर पर रजनी मल्लाह देश की आन बान और शान में चार चांद लगाती नजर आएंगी। रजनी मल्लाह की पढ़ाई लिखाई परिवार में किसी अनहोनी घटना की वजह से बीच में रुक गई थी. लेकिन अब नियमित अपने छोटे भाई के साथ वे भी दसवीं की पढ़ाई कर रही है. हर दिन कड़ी चार से पांच घंटे जिम में अभ्यास करती हैं.

Rajni became power lifter
Rajni became power lifter

प्रतियोेगिता में हिस्सा लिया-

रजनी मल्लाह पहली बार इंडियन बॉडी बिल्डिंग फेडरेशन के तहत घिटोरनी गुरुग्राम में 2018 में आयोजित फिटनेस मॉडल प्रतियोेगिता में हिस्सा लिया. जिसमें अव्वल रहीं व स्वर्ण पदक विजेता घोषित हुई. वर्ल्ड पावर लिफ्टिंग कांग्रेस द्वारा नोएडा मेंं 22 दिसंबर 2020 में आयोजित स्काव्ड चैंपियनशिप में अपने 67.5 किलोग्राम भार वर्ग में पहले स्थान पर रही. 67.5 किलोग्राम भार वर्ग में ही 24-25 जनवरी 2020 में तालकटोरा स्टेडियम दिल्ली में रैंबो क्लासिक चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक विजेता बनीं.

अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया-

बातचीत के दौरान रजनी मल्लाह ने कहा कि हमारे समाज में लड़कियों को घर से बाहर जाने की इजाजत नहीं थी. लेकिन उनके इस तरह से खेल प्रतियोगिताओं में बेहतरीन प्रर्दशन के बाद समाज में इज्जत बढ़ी है. पहली बार जब फिटनेस मॉडल में स्वर्ण पदक मिला इसके बाद ये आत्मविश्वास से भर गई, इसके बाद पीछे मुड़कर नहीं देखा. तीन साल के भीतर लगातार पांच स्वर्ण पदक जीतकर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया.

Leave a comment

Your email address will not be published.