एक्टिविस्ट दिशा रवि 5 दिन की रिमांड पर, ग्रेटा टूलकिट मामले में करेगी पुलिस पूछताछ

Police took Disha Ravi on 5 days remand
Police took Disha Ravi on 5 days remand

नई दिल्ली: 21 साल की क्लाइमेट एक्टिविस्ट दिशा रवि को दिल्ली की एक अदालत ने पांच दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा है। पुलिस का कहना कि दिशा पर खलिस्तानी ग्रुप को दोबारा खड़ा करने का आरोप है। इन्होंने टूलकिट को एडिट किया है। इसमें हजारों और लोग शामिल हैं। यह खलिस्तानी आतंकी गुरूपतवंत सिंह की पन्नू से प्रभावित है। साथ ही भारत सरकार के खिलाफ एक बड़ी साजिश रचने का भी आरोप है।

Police took Disha Ravi on 5 days remand

वृंदावन : बांकेबिहारी के दर पर पहुंचे मुख्यमंत्री योगी, दर्शन कर लिया आशीर्वाद

हो सकती हैं और गिरफ्तारियां 

बता दें कि साइबर सेल की टीम ने दिशा रवि की सात दिनों की रिमांड मांगी थी। लेकिन पटियाला हाउस कोर्ट ने पूछताछ के लिए पांच दिन की रिमांड दी है। स्पेशल सेल अब रिमांड ओर लेकर आगे की पूछताछ करेगी। सूत्रों के मुताबिक अभी इस केस में कई और गिरफ्तारियां होंगी।

दिल्ली पुलिस ने  किया मोबाइल जब्त

दिल्ली पुलिस ने बताया कि दिशा रवि का मोबाइल बरामद कर लिया गया है। लेकिन डेटा डिलीट किया जा चुका था। दिशा का कहना है कि उसने सिर्फ 2 लाइन एडिट किया था। दिशा ने कहा कि मैंने किसानों के सपोर्ट में किया था ,जो अन्नदाता हैं, उनके आंदोलन से मैं प्रभावित थी। पुलिस ने कहा कि इस मामले में शांतनु और निकिता को और गिरफ्तार करना है। बता दें कि दिशा रवि को पुलिस ने बेंगलुरु से गिरफ्तार किया था। इसके बाद रविवार को पटियाला हाउस कोर्ट में दिशा को पेश किया गया।

J&K : 7 किलो RDX बरामद, क्या पुलवामा हमले को दोहराने की है साजिश ?

साइबर स्ट्राइक के लिए बनाई गई जुड़ी टूलकिट को किया था एडिट 

ज्ञात हो कि दिशा रवि ने 26 जनवरी हिंसा को लेकर साइबर स्ट्राइक के लिए बनाई गई जुड़ी टूलकिट को एडिट किया था। उसमें कुछ चीज़ें जोड़ी और उसके आगे सर्कुलेट किया था। मिली जानकारी के अनुसार, दिशा रवि फ्राइडे फ़ॉर फ्यूचर कैम्पेन की फॉउंडरों में एक हैं । 4 फरवरी को दिल्ली पुलिस ने टूलकिट को लेकर केस भी दर्ज किया था।

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बदनाम करने के लिए कर रही थी साजिश

बता दें कि हाल में ही स्वीडन की पर्यावरण एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग ने कृषि कानून के विरोध में आंदोलन कर रहे किसानों का समर्थन किया था। उन्होंने ट्विटर पर टूलकिट भी पोस्ट किया था। इसमें भारत को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बदनाम करने के लिए आंदोलन से संबंधित वीडियो, फोटो, ट्विटर हैशटैग, टैगिंग अकाउंट की लिस्ट समेत अन्य साम्रगी मौजूद थी।

क्या होता है टूलकिट

टूलकिट में ट्विटर के जरिये किसी अभियान को ट्रेंड कराने से संबंधित दिशानिर्देश और सामग्री होती है। इसमें हैशटैग, टैग करने वाले एकाउंट, वीडियो व फोटो और संबंधित विषय से जुड़ी जानकारी होती है। इसमें ट्विटर पर ट्रेंड कराने के लिए वह सभी जानकारी और सामग्री होती है। इसे बस कापी-पेस्ट करना होता है। इसमें तारीख और समय तय होता है, ताकि एक साथ उस हैशटैग को ट्विटर पर ट्रेंड कराया जा सके। साथ ही संबंधित पक्ष के खिलाफ माहौल बनाया जा सके।

Pulwama Terror Attack : Pulwama की दूसरी बरसी पर आंतकी साजिश नाकाम || 

Leave a comment

Your email address will not be published.