पहले निवेशक कहते थे भारत क्यों और अब कहते हैं भारत क्यों नहीं? : प्रधानमंत्री मोदी

PM Modi Speech
PM Modi Speech

नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी उद्योग मंडल एसोचैम के फाउंडेशन वीक कार्यक्रम को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से संबोधित कर रहे हैं. अपने संबोधन से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से टाटा संस के चेयरमैन रतन टाटा को एसोचैम एंटरप्राइज ऑफ दी सेंचुरी अवॉर्ड प्रदान किया।

पीएम बोले, ‘आने वाले 27 साल भारत के वैश्विक योगदान को ही तय नहीं करेंगे, बल्कि ये हम भारतीयों के सपने और निष्ठा, दोनों को टेस्ट करेंगे. ये समय भारतीय इंडस्ट्री के रूप में आपकी क्षमता, प्रतिबद्धता और साहस को दुनिया भर को दिखा देने का है. हमारा चैलेंज सिर्फ आत्मनिर्भरता ही नहीं है. बल्कि हम इस लक्ष्य को कितनी जल्दी हासिल करते हैं, ये भी उतना ही महत्वपूर्ण है।’

 PM Modi on Assocham
PM Modi on Assocham

भारत क्यों और भारत क्यों नहीं?-

एक जमाने में हमारे यहां जो परिस्थितियां थीं, उसके बाद कहा जाने लगा था-भारत क्यों?, अब जो सुधार देश में हुए हैं, उनका जो प्रभाव दिखा है, उसके बाद कहा जा रहा है- भारत क्यों नहीं?

मोदी ने कहा, ‘अब आने वाले वर्षों में आत्मनिर्भर भारत के लिए आपको पूरी ताकत लगा देनी है. इस समय दुनिया चौथी औद्योगिक क्रांति की तरफ तेज़ी से आगे बढ़ रही है. नई टेक्नॉलॉजी के रूप में चुनौतियों भी आएंगी और अनेक समाधान भी। इसलिए आज वो समय है, जब हमें प्लान भी करना है और एक्ट भी करना है. हमें हर साल के, हर लक्ष्य को राष्ट्र निर्माण (Nation Building) के एक बड़ा लक्ष्य (Larger Goal) के साथ जोड़ना है।’

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से रतन टाटा को दिया अवॉर्ड-

कहा, ‘हमारे यहां कहा जाता है कि कर्म करते हुए 100 वर्ष तक जीने की इच्छा रखो। यह बात एसोचैम के लिए फिट बैठती है. बीते 100 सालों से आप सभी देश की अर्थव्यवस्था को बेहतर बनाने में जुटे हैं. यह बात रतन टाटा के लिए भी उतनी ही सही है. टाटा ग्रुप की देश के विकास में बड़ी भूमिका रही है।’

PM Modi Speech
PM Modi Speech

नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से टाटा संस के चेयरमैन रतन टाटा को एसोचैम एंटरप्राइज ऑफ दी सेंचुरी अवॉर्ड प्रदान किया।

कार्यक्रम में अलग-अलग विषयों को किया शामिल-

पीएम अपने संबोधन में देश को पांच ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के रोडमैप के बारे में बता सकते हैं. एसोचैम की स्थापना देश के सभी क्षेत्रों के प्रवर्तक चैंबरों ने साल 1920 में की थी. इसके अंतर्गत 400 से अधिक चैंबर और व्यापार संघ आते हैं. देश भर में इसके सदस्यों की संख्या 4.5 लाख से ज्यादा है. एसोचैम का फाउंडेशन वीक 2020 15 दिसंबर से आयोजित हुआ था।

आज इसका आखिरी दिन है, हफ्ते भर के इस कार्यक्रम में कई अलग-अलग विषयों को शामिल किया गया था, जिसमें देश के कई मंत्रियों, अधिकारियों और इंडस्ट्री लीडर्स ने अपनी बात रखी। इस कार्यक्रम में अपने संबोधन के दौरान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आगामी बजट को लेकर कुछ संकेत भी दिए। वहीं, सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने महत्वाकांक्षी इन्फ्रास्ट्रक्चर पाइपलाइन से जुड़ी बातें साझा की।

Leave a comment

Your email address will not be published.