पीलीभीत: बेटी करती थी फोन पर बात, नाराज़ माँ और भाई ने बहनों की कर दी हत्या

पीलीभीत
पीलीभीत पुलिस

नई दिल्लीः उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले में पुलिस ने दिल दहला देने वाले मामले का खुलासा किया है। पुलिस कप्तान जय प्रकाश ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान 3 दिन पहले हुई दो बहनों की हत्या का खुलासा करते हुए कहा कि दोनों बहनों के हत्या ऑनर किलिंग थी।

फोन पर बात करने से नाराज मां और भाइयों ने मिलकर कर दी थी हत्या

पीलीभीत के बीसलपुर थाना क्षेत्र में पड़ने वाले कासिमपुर गांव में सोनी नाम का ईट भट्टे पर काम करने वाली अंशिका (17), व उसकी बड़ी बहन पूजा (20) अपने परिवार के साथ इस भट्टे पर काम करती थी। जब 22 मार्च की शाम दोनों बहनें किसी से फोन पर बात कर रही थी, तो इनकी मां और भाइयों ने उनको देख लिया। फोन पर बात करने से नाराज मां और भाई ने दोनों बहनों को पिटाई कर दी।

पीलीभीत
पीलीभीत Pilibhit

बड़ी लड़की को भी जिंदा ही पेड़ पर लटका दिया परिवारवालों ने

गुस्से में आपा खोने पर मां कमलादेवी ने पहले तो छोटी बेटी का गला घोटा। जिसमें उसके दोनों बेटे रामप्रताप और विजय प्रताप ने उनका साथ दिया। उसके बाद भी आरोपीयों का मन नहीं भरा तो बड़ी बेटी पूजा का गला दबा दिया। पुलिस की मानें तो इन लोगों ने (अनिल) लड़कियों के जीजा को बुलाकर बड़ी लड़की पूजा को जिंदा ही पेड़ पर लटका दिया। उसके बाद ये दोनोे लोग रात भर पुलिस को न बताकर आपस में ही खिचड़ी पकाते रहे कि, किसी तरीके से डेड बॉडी को छुपा दिया जाए।

पीलीभीत Pilibhit
पीलीभीत Pilibhit

इन सारे कामों में ईट भट्टे का मालिक दे रहा था साथ

इन सारे कामों में ईट भट्टे का मालिक अली हसन ने भी आरोपितों का साथ दिया। पुलिस ने अब रामप्रताप जो मृतका का भाई है, मां कमला देवी और ईट भट्टा मालिक अली हसन को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि मृतक लड़कियों का भाई विजय प्रताप व मृतक लड़कियों का जीजा अनिल अभी भी पुलिस की गिरफ्त से दूर है। आपको बता दें कि धारा 201 के तहत अली हसन को भी गिरफ्तार किया गया है। वहीं पुलिस अधीक्षक जयप्रकाश की माने तो अभी भी इस हत्याकांड को बंद नहीं किया गया है और इसके पीछे का हकीकत को तलाशा जा रहा है।

पीलीभीत
पीलीभीत पुलिस

फोन पर बात करने से नाराज मां ने उतारा मौत के घाट

दो बहनों की हत्या जहां पूरे जिले को हिला कर रख दिया है। वहीं सिर्फ एक फोन पर बात करने के पीछे इतना हो गया कि मां ने अपनी ममता का ही गला घोट दिया। दो-दो अपनी सगी बेटियों की हत्या कर डाली। इन बहनों की हत्या में शामिल दोनों भाई जो कभी अपनी बहनों से हाथ में राखी बंधाया करते थे, उन्हीं हाथों से अपनी ही बहन की हत्या कर डाली। हमारा देश 21वीं सदी में जी रहा है, मगर कुछ लोग रूढ़िवादी विचारधारा में अभी भी बंधे हुए हैं।

Sanjay Singh Rajya Sabha | GNCTD Bill | Sanjay Singh Angry | सरकार की ताकत को कम करने की कोशिश है

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *