कोरोना वायरस : Pfizer-BioNTech की वैक्सीन का अध्ययन, क्या कहते हैं आंकड़े?

Pfizer-BioNTech VACCINE
Pfizer-BioNTech VACCINE

नई दिल्ली : पश्चिम और उत्तर भारत के कुछ राज्यों में देश के बाकी हिस्सों के मुकाबले कोरोना केसों में वृद्धि दर्ज की गई है. इसी दौरान दिल्ली में कोरोना की तीसरी लहर दर्ज की गई. कोरोना वैक्सीन को लेकर तमाम देशों में तैयारी चल रही है, लेकिन ब्रिटेन में सबसे पहले फाइजर की कोरोना वैक्सीन आई. दावा किया जा रहा है कि फाइजर की कोरोना वैक्सीन 16 वर्ष के आयु और उससे ज्यादा के उम्र वालों के लिए अधिक कारगर है. कंपनी ने वैज्ञानिक अध्ययनों के आधार पर यह दावा किया है.

Pfizer-BioNTech VACCINE
Pfizer-BioNTech VACCINE

16 साल और उससे अधिक उम्र में कारगर साबित-

जारी बयान के मुताबिक उपलब्ध वैज्ञानिक साक्ष्यों की समग्रता के आधार पर यह मानना उचित है कि Pfizer-BioNTech की वैक्सीन कोरोना को रोकने में प्रभावी हो सकती है. यह 16 साल और उससे अधिक उम्र के लोगों में कारगर साबित होगी.

किया जायेगा पुन: अध्ययन-

वैक्सीन को लेकर गठित समिति यह भी चर्चा करेगी कि इस वैक्सीन की सुरक्षा और प्रभावशीलता के बारे में वैक्सीन निर्माता द्वारा अतिरिक्त अध्ययन क्या किया जाना चाहिए. इमरजेंसी यूज अप्रूवल (EUA) के बाद यह अध्ययन किया जाएगा.

फिलहाल, इस वैक्सीन को लेकर अध्ययन जारी है. अमेरिका, अर्जेंटीना, ब्राजील, जर्मनी, दक्षिण अफ्रीका और तुर्की में इस वैक्सीन का हर लिहाज से अध्ययन किया जा रहा है. शुरू में इस वैक्सीन को अमेरिका में स्वस्थ वयस्कों पर पहले और दूसरे ट्रायल के अध्ययन के रूप में तैयार किया गया था.

Leave a comment

Your email address will not be published.