PFI Commander : हिंदूवादी नेताओ की हत्या की देता था ट्रेनिंग, PFI कमांडर गिरफ्तार

PFI Commander
PFI Commander

[vc_row][vc_column][jnews_element_ads compatible_column_notice=”” google_publisher_id=”6971372096849052″ google_slot_id=”3187246405″][/jnews_element_ads][vc_column_text]नई दिल्ली: PFI Commander: देश में युवाओं को उनके मकसद से भटकाना कुछ लोगों के लिए आसान हो गया है खासकर ऐसे विशेष वर्ग के युवाओं को निशाना बनाया जाता है जो कम शिक्षित हों, उनको आसानी से किसी आतंकी गतिबिधि में जोड़ा जा सकता है। पापुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) संगठन के ट्रेनिंग कमांडर मोहम्मद राशिद को यूपी एसटीएफ की गोरखपुर व लखनऊ की संयुक्त टीम ने रविवार को कोतवाली क्षेत्र के मूड़घाट के पास से गिरफ्तार कर लिया। एसटीएफ के अनुसार, मोहम्मद राशिद पीएफआई संगठन के सक्रिय सदस्यों को महाराष्ट्र में विशेष तौर पर ट्रेनिंग देता था।

PFI Commander: वर्ग विशेष के युवाओं को बनाता था निशाना

ट्रेनिग कमांडर मोहम्मद राशिद ने पुलिस की पूछताछ में कई चौंकाने वाली जानकारी दी है। वह वर्ग विशेष, शारीरिक रूप से बलवान और कम पढ़े लिखे युवाओं को निशाना बनाता था। इन युवकों को पहले वह ब्रेनवाश करता था फिर भारत के खिलाफ उनको भड़काता था। इसके बाद आतंकी ट्रेनिग भी देता था जिसमें हथियार चलाना भी शामिल है। राशिद का आका सईद चौधरी है। वह उसी के इशारे पर काम करता है। पीएफआइ संगठन के सक्रिय सदस्यों को महाराष्ट्र में विशेष ट्रेनिग दी जाती है। राशिद ट्रेनिग देने से लेकर देश के विभिन्न राज्यों में पीएफआइ के सदस्य भी बनाने का कार्य करता है। राशिद के बस्ती से मुंबई जाने की मिली थी सूचना

PFI Commander
PFI Commander

सक्रिय सदस्यों को मोटिवेट करता था

एसटीएफ के मुताबिक, राशिद पीएफआई के सक्रिय सदस्यों को मोटिवेट करके उन्हें विभिन्न शारीरिक और अस्त्र-शस्त्र के इस्तेमाल के लिए प्रशिक्षित करता था। उसके कब्जे से देश विरोधी गतिविधियों में लिप्त होने के दस्तावेज, सीडी के अलावा दो आधार कार्ड, मोबाइल, पैन कार्ड बरामद किए गए। उर्दू भाषा में लिखा एक छोटा पन्ना भी मिला है। एसपी हेमराज मीणा ने बताया कि एसटीएफ मुख्यालय लखनऊ की सूचना पर कार्रवाई की गई। एसटीएफ गोरखपुर के उप निरीक्षक सूरजनाथ सिंह की तहरीर पर आरोपी मोहम्मद राशिद पर आईपीसी की धारा 121 ए, 420, 467, 468, 471 और 120 बी के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

एसटीफ के हत्थे चढ़ा राशिद मुंबई में पीओपी (प्लास्टर आफ पेरिस) का काम करता था, मगर उसका असली काम पीएफआई संगठन के सक्रिय सदस्यों का महाराष्ट्र में ब्रेन वाश करके उन्हें दंगा-फसाद करने के लिए विभिन्न प्रकार से प्रशिक्षित करना था। पिछले दिनों उसके सिद्धार्थनगर स्थित अपने घर आने की सूचना मिली थी।

मुंबई जाने की तैयारी में था

पता लगा कि वह 13 मार्च की देर रात मुंबई जाने के लिए किसी साधन से लखनऊ रवाना होने की तैयारी में है। यह सूचना एसटीएफ मुख्यालय लखनऊ से साझा की गई थी। लखनऊ एसटीएफ से एसआई सत्येंद्र विक्रम सिंह, हेड कांस्टेबल नीरज पांडेय, कमांडो विजय वर्मा के साथ बस्ती आ गए। इधर एसटीएफ गोरखपुर के एसआई सूरजनाथ सिंह भी बस्ती पहुंच गए। शनिवार और रविवार की रात करीब दो बजे मूड़घाट चौराहे पर लखनऊ जाने के लिए गाड़ी का इंतजार कर रहे मोहम्मद राशिद को गिरफ्तार कर लिया गया।

हूबहू UFO जैसा दिखने वाला अनोखा जंगल 

https://youtu.be/eM1FwKoxrQ4[/vc_column_text][/vc_column][/vc_row]

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *