Petrol and Diesel update : जानिए अपने शहर के पेट्रोल और डीज़ल की कीमतों के बारे में

Mumbai ; Sister hatches to kill brother's killer
Petrol and Diesel update

नई दिल्ली : आज सरकारी तेल कंपनियों की ओर से 17वें दिन भी पेट्रोल और डीजल की कीमतों में किसी तरह का बदलाव नहीं हुआ है। देश में पेट्रोल और डीजल के दाम उच्चतम स्तर पर है। सरकार ने लोकसभा में कहा कि पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी, सेस और सरचार्ज से मोटी कमाई होती है।

 

दामों की जानकारी 

सरकार ने यह स्वीकार किया कि छह मई 2020 के बाद से एक लीटर पेट्रोल से 33 रुपये का मुनाफा हो रहा है। वहीं एक लीटर डीजल से सरकार को 32 रुपये की कमाई हो रही है। एक जनवरी 2020 से 13 मार्च 2020 तक एक लीटर पेट्रोल और डीजल से सरकार को 20 रुपये और 16 रुपये मिले थे। यानी एक जनवरी 2020 से तुलना करें, तो सरकार की आय प्रति लीटर पेट्रोल से 13 रुपये और डीजल से 16 रुपये हो गई है

 

Covid 19 update : वडोदरा,अहमदाबाद,सूरत और राजकोट में नाइट कर्फ्यू

कीमत की फ्रीज 

सरकार ईंधन की अधिक कीमत और उसे फ्रीज करने के लिए आलोचनाओं का सामना कर रही है। विपक्ष ईंधन की कीमतों में ‘राजनीतिक रूप से फ्रीज’ पर सवाल उठाता रहा है क्योंकि देश में पेट्रोलियम उत्पादों की दरें अंतरराष्ट्रीय स्तर की कीमतों पर आधारित होती हैं। विपक्ष सरकार से सवाल कर रहा है कि देश में विधानसभा चुनावों के बीच पेट्रोल और डीजल की कीमतें स्थिर कैसे हो सकती हैं। केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने उस संदर्भ में कहा कि अन्य देशों की तुलना में देश में ईंधन की ज्यादा और कम कीमतों के कई कारण बताए है। उसे में टैक्स प्रणाली, सब्सिडी,आदि होती है । पहले पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों पर केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा था कि उस मुद्दे पर केंद्र सरकार और राज्य सरकार को बैठकर बात करनी होगी क्योंकि तेल पर दोनों सरकारों द्वारा टैक्स वसूला जाता है। वही केंद्र सरकार को पेट्रोलियम पर राजस्व प्राप्त होता है, तो उसका 41% हिस्सा राज्यों के पास जाता है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *