Panchayat Chunav: रेप केस में दोषी कुलदीप सेंगर की पत्नी को BJP ने दिया टिकट

Panchayat Chunav

नई दिल्ली (Panchayat Chunav): पुरे देश में पंचायत चुनाव के बिगुल बज चुका है। सभी ने अपने-अपने दावं पेंच लगाने शुरु कर दिए है। देश में एक बात की चर्चा जोर पर है, वो है उत्तर प्रदेश के उन्नाव में रेप केस में सजा काट रहे पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की पत्नी संगीता सेंगर को भारतीय जनता पार्टी ने पंचायत चुनाव में टिकट से नवाजा है। बता दें संगीता सेंगर 2016 में निर्दलीय जिला पंचायत अध्यक्ष बनी थीं। इनके अलावा बीजेपी ने निवर्तमान ब्लॉक प्रमुख अरुण सिंह को असोहा द्वितीय से और बीजेपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य आनन्द अवस्थी को सरोसी प्रथम से मैदान में उतारा है।

assam-vidhan-sabha-assam-election-commission-further-investigations-in-evm-case-tell-the-truth-said-evm-seal-not-broken 67396
assam-vidhan-sabha-assam-election-commission-further-investigations-in-evm-case-tell-the-truth-said-evm-seal-not-broken 67396

उत्तरप्रदेश में 6000 करोड़ में से 1800 करोड़ खर्च नहीं कर पाये ग्राम प्रधान

प्रत्याशियों की सूची जारी की

उन्नाव में जिला पंचायत सदस्य के लिए बीजेपी ने 51 पदों के लिए प्रत्याशियों की सूची जारी की है। इनमें बीजेपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य आनन्द अवस्थी को सरोसी प्रथम से मैदान में उतारा गया है।
वहीं पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की पत्नी निवर्तमान जिला पंचायत अध्यक्ष संगीता सेंगर को पार्टी ने टिकट दिया है। संगीता सेंगर पर विश्वास जताते हुए पार्टी ने फतेहपुर चौरासी तृतीय से टिकट दिया है।इनके अलावा नवाबगंज निवर्तमान ब्लॉक प्रमुख अरुण सिंह को असोहा द्वितीय से प्रत्याशी बनाया है।वहीं बीजेपी ने कई जमीनी कार्यकर्ताओं पर भी भरोसा जताते हुए प्रत्याशी घोषित किया है।

कौन है कुलदीप सिंह सेंगर?

उन्नाव की अलग-अलग विधानसभा सीटों से कुलदीप सिंह सिंगर 4 बार के लोकप्रिय विधायक रहे हैं।
2017 विधानसभा चुनाव में बीजेपी के टिकट पर विधायक रहे कुलदीप सिंह सेंगर को साल 2018 में उन्नाव रेप केस में गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद बीजेपी ने कुलदीप सिंह सेंगर को अगस्त 2019 में पार्टी से निष्काषित कर दिया था। कुलदीप सिंह सेंगर को कोर्ट से दोषी करार दिए जाने के बाद उसे उम्रकैद की सजा सुनाई गई है

गृह मंत्री अमित शाह ने बताया TMC के हारने के पिछे क्या हैं कारण, क्यों बौखला रही हैं ममता बनर्जी ?

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *