इस साल के अंत तक सभी को लगेगी वैक्सीन, सरकार ने पेश किया रोडमैप

18-vaccination-campaign-will-start-from-monday-17-may-in-5-district
18-vaccination-campaign-will-start-from-monday-17-may-in-5-district

नई दिल्ली: इस साल के अंत तक भारत में 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को वैक्सीन की दोनों डोज लग सकती हैं। सरकार ने दिसंबर तक देश में वैक्सीन की उपलब्धता का पूरा रोडमैप पेश किया है। इसके अनुसार जुलाई तक देश में कुल 51.6 करोड़ डोज उपलब्ध होंगी। ध्यान रहे कि इनमें से लगभग 17 करोड़ डोज दी जा चुकी हैं।

over-216-crore-doses-of-vaccines-will-be-manufactured-in-india-between-august-december-for-indians
over-216-crore-doses-of-vaccines-will-be-manufactured-in-india-between-august-december-for-indians

वहीं, अगस्त से दिसंबर तक 216 करोड़ डोज का उत्पादन होगा। जाहिर ये देश में 18 साल से अधिक उम्र के लगभग 95 करोड़ लोगों को दोनों डोज की वैक्सीन से कहीं अधिक होंगी।

वैक्सिनेशन में भारत तीसरे नंबर पर

खास बात यह है कि इन सभी वैक्सीन डोज का उत्पादन देश के भीतर होगा और इसमें आयात होने वाली वैक्सीन शामिल नहीं हैं।देश में वैक्सीन की कमी को लेकर विपक्ष की ओर से मचाए जा रहे कोहराम के बीच नीति आयोग के सदस्य और वैक्सीन पर गठित टास्क फोर्स के प्रमुख डा. वीके पाल ने कहा कि वैक्सीन की उपलब्धता बढ़ाने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं और आने वाले चंद महीनों में इसके परिणाम दिखने लगेंगे।

आलोचनाओं का करार जवाब देते हुए डा. पाल ने कहा, उन्हें यह नहीं भूलना चाहिए कि 17.5 करोड़ से अधिक डोज देने वाला भारत दुनिया का तीसरा बड़ा देश है और यह उपलब्धि देश में बनी वैक्सीन के आधार पर हासिल की गई है। चीन के आंकड़ों पर सवालिया निशान लगाते हुए उन्होंने कहा कि अमेरिका ही केवल ऐसा देश है जिसने अभी तक वैक्सीन की 25 करोड़ डोज लगाई हैं।

दिसंबर तक सबको लगेगी वैक्सीन

सच्चाई यह भी है कि अमेरिका ने भारत से एक महीना पहले वैक्सीन देना शुरू कर दिया था। अमेरिका जैसे संपन्न देश को 17 करोड़ डोज देने में 115 दिन लगे, वहीं सीमित संसाधनों के बावजूद भारत ने 114 दिनों में यह कर दिखाया।वैक्सीनेशन में भारत की बड़ी उपलब्धियों को गिनाते हुए डाक्टर वीके पाल ने कहा कि 16 जनवरी से शुरू हुए इस अभियान के तहत हम 45 साल से अधिक उम्र के हर तीसरे व्यक्ति को एक डोज दे चुके हैं। देश में 45 साल से अधिक उम्र के लोगों की संख्या लगभग 34 करोड़ है। इनमें भी 23 राज्य और केंद्र शासित प्रदेश ऐसे हैं जो राष्ट्रीय औसत 32 फीसद से अधिक लोगों को एक डोज दे चुके हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *