नोएडा एयरपोर्ट मेट्रो होगी एक्सप्रेस, स्टेशन की संख्या रहेगी कम

noida-airport-metro-will-be-express-stations-will-be-less
noida-airport-metro-will-be-express-stations-will-be-less

नई दिल्ली : 120 किमी प्रति घंटा की अधिकतम रफ्तार के लिए एयरपोर्ट मेट्रो का निर्माण किया जाएगा। नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट को एक्सप्रेस मेट्रो से कनेक्टिविटी मिलेगी। एयरपोर्ट मेट्रो की विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) में संशोधन किया जाएगा। परियोजना की लागत कम करने के लिए स्टेशन की संख्या कम की जाएगी।

noida-airport-metro-will-be-express-stations-will-be-less
noida-airport-metro-will-be-express-stations-will-be-less

डीपीआर में 25 स्टेशन प्रस्तावित-

दिल्ली मेट्रो रेल कारपोरेशन ने नोएडा एयरपोर्ट मेट्रो की डीपीआर तैयार की थी। नॉलेज पार्क दो से नोएडा एयरपोर्ट तक 35.64 किमी लंबे मेट्रो ट्रैक पर डीपीआर में 25 स्टेशन प्रस्तावित हैं, ताकि नोएडा एयरपोर्ट के साथ यमुना प्राधिकरण के सेक्टरों में भी मेट्रो की कनेक्टिविटी मिल सके। यमुना प्राधिकरण ने एयरपोर्ट मेट्रो का फंडिग पैटर्न तय करने के लिए डीपीआर रिपोर्ट शासन को भेजी थी। डीपीआर के आकलन के लिए शासन ने इसे उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कारपोरेशन को भेज दिया था। एक साल से अधिक समय बीतने के बाद शासन ने नोएडा एयरपोर्ट मेट्रो को लेकर दिशा निर्देश जारी किए हैं।

मेट्रो को एयरपोर्ट तक पहुंचने में लगेगा कम समय-

डीएमआरसी की डीपीआर में आठ स्टेशन ग्रेटर नोएडा क्षेत्र में और शेष 17 स्टेशन यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में होंगे। दो स्टेशनों के बीच की दूरी एक किमी से लेकर 1.45 किमी है। एयरपोर्ट परिसर में करीब 2.7 किमी लंबा मेट्रो ट्रैक बनेगा। नंगला हुकुम सिंह से मेट्रो ट्रैक भूमिगत हो जाएगा। एयरपोर्ट मेट्रो स्टेशन भूमिगत होगा। प्रस्तावित स्टेशन में नॉलेज पार्क दो, सेक्टर चाइ एक, चाइ दो, चाइ तीन व सेक्टर चाइ चार, गौतमबुद्ध विश्वविद्यालय, नाइट सफारी, मुर्शदपुर, यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में सेक्टर 26 ए, नोएडा इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी, गलगोटिया यूनिवर्सिटी, सेक्टर 17 ए, स्पो‌र्ट्स सिटी, सेक्टर 22 ए, 22 बी, सेक्टर 18-एक, सेक्टर 22 सी, सेक्टर 19, सेक्टर 18-दो, सेक्टर बीस, सेक्टर 21, सेक्टर 28, सेक्टर 29, नंगला हुकुम सिंह, नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट टर्मिनल स्टेशन शामिल हैं। शासन ने इन स्टेशन की संख्या कम करने का सुझाव दिया है। इससे परियोजना की लागत कम होने के साथ मेट्रो को एयरपोर्ट तक पहुंचने में कम समय लगेगा।

भविष्य में बढ़ सकते हैं स्टेशन-

यमुना प्राधिकरण के सेक्टरों में अभी बसावट नहीं हुई है। इसलिए 25 स्टेशन का निर्माण व्यावहारिक नहीं है। सेक्टर 17ए, 18, 20, फिल्म सिटी, औद्योगिक सेक्टर 28, 29 आदि सेक्टर के लिए शुरुआत में स्टेशन बनाए जा सकते हैं। जैसे जैसे प्राधिकरण क्षेत्र में बसावट होगी। स्टेशन का निर्माण किया जाएगा।

Leave a comment

Your email address will not be published.