संसद में बजट सत्र के दौरान पेट्रोल-डीजल की बढ़ी कीमतों को लेकर विपक्ष का हंगामा

national-the-second-phase-of-the-budget-session-of-parliament-commences-with-reconvening-of-rajya-sabha-in-the-first-half-of-the-day
national-the-second-phase-of-the-budget-session-of-parliament-commences-with-reconvening-of-rajya-sabha-in-the-first-half-of-the-day

नई दिल्ली : संसद में बजट सत्र के दूसरे चरण की शुरुआत सोमवार से हो गई। इस क्रम में पहले राज्यसभा की कार्यवाही शुरू हुई। पेट्रोल-डीज़ल की कीमतों पर चर्चा करने की मांग को लेकर कांग्रेस के हंगामे के बाद राज्यसभा की कार्यवाही फिर से दोपहर 1.30 बजे तक स्थगित कर दी गई। इसके पहले विपक्ष के हंंगामे के कारण 11 बजे तक फिर दोपहर 1 बजे तक के लिए सदन की कार्यवाही को स्थगित किया गया था।

national-the-second-phase-of-the-budget-session-of-parliament-commences-with-reconvening-of-rajya-sabha-in-the-first-half-of-the-day
national-the-second-phase-of-the-budget-session-of-parliament-commences-with-reconvening-of-rajya-sabha-in-the-first-half-of-the-day

पेट्रोल डीजल पर विपक्ष-

आज विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खडगे ((Mallikarjun Kharge) ) ने सदन में कहा, ‘पेट्रोल और डीजल की कीमतें 100 रुपये प्रति लीटर और 80 रुपये प्रति लीटर है। LPG की कीमतें भी बढ़ गई हैं। एक्साइज ड्यूटी/सेस लगाने से 21 लाख करोड़ की राशि जमा हुई इसके कारण किसानों समेत पूरा देश मुश्किलों का सामना कर रहा है। कार्यवाही की शुरुआत के साथ ही सदन केे अध्यक्ष वेंकैया नायडू ने कहा, ‘राज्यसभा में विपक्ष के नेता के तौर पर मल्लिकार्जुन का स्वागत करता हूं। वे देश में लंबे समय तक काम करने वाले नेताओं में से एक हैं।’ उन्होंने कहा, ‘मैं सभी सदस्यों से सदन में उपस्थित रहने की अपील करता हूं, ताकि यहां होने वाले डिबेट में हिस्सा लेकर वो अपने ज्ञान को बढ़ाएं।

सदन में की मांग

इससे पहले सोमवार, 8 मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस (International Womens Day) के मौके पर सदन के अध्यक्ष ने कहा कि आज का दिन दुनिया भर में महिलाओं की सामाजिक, आर्थिक, सांस्कृतिक और राजनीतिक योगदान व उपलब्धियों को मनाने और उन्हें सम्मानित करने का दिन है। भारतीय जनता पार्टी की सांसद सोनल मानसिंह ( BJP MP Sonal Mansingh) ने सदन में ‘अंतरराष्ट्रीय पुरुष दिवस’ मनाने की भी मांग की। सदन के अध्यक्ष ने कहा,’संसद की लाइब्रेरी इस साल अपने 100 साल पूरे करेगी, इसमें 14 लाख किताबें और सैकड़ों जर्नल हैं। मुझे बताया गया है​ कि संसद की लाइब्रेरी में जाने वाले सांसदों की संख्या काफी संतोषजनक नहीं है। मैं सांसदों से लाइब्रेरी का प्रभावी इस्तेमाल करने की अपील करता हूं।’

 

Leave a comment

Your email address will not be published.