रैगिंग आत्महत्या केस- चार छात्राओं को मिली पांच-पांच साल की जेल

national-anita-ragging-case-four-students-jailed-for-five-years-for-suicide-of-a-girl-student-7-year ago
national-anita-ragging-case-four-students-jailed-for-five-years-for-suicide-of-a-girl-student-7-year ago

भोपाल : मध्य प्रदेश के एक फार्मेसी कॉलेज की 18 वर्षीय छात्रा ने लगभग साढ़े सात साल पहले रैगिंग का शिकार होने के बाद अपने घर पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। अब भोपाल की एक अदालत ने छात्रा के कॉलेज के चार सीनियर छात्राओं को दोषी ठहराया है और उन्हें पांच साल की जेल की सजा सुनाई है।

national-anita-ragging-case-four-students-jailed-for-five-years-for-suicide-of-a-girl-student-7-year ago
national-anita-ragging-case-four-students-jailed-for-five-years-for-suicide-of-a-girl-student-7-year ago

पांच साल की जेल

अतिरिक्त जिला न्यायाधीश अमित रंजन समाधिया की अदालत ने 18 वर्षीय लड़की की आत्महत्या के लिए दोषी मानते हुए चार छात्राओं को दोषी ठहराया और उनमें से प्रत्येक को पांच साल की जेल की सजा और प्रत्येक को 2000 रुपये का जुर्माना देने के लिए कहा गया है। इस मामले के पांचवें आरोपी, फार्मेसी कॉलेज के संकाय सदस्य मनीष गुप्ता को अदालत ने उसके खिलाफ निर्णायक सबूतों की अभाव में बरी कर दिया।

अनीता शर्मा ने लगाई थी फांसी

शासन की तरफ से मामले की पैरवी कर रहे एजीपी खालिद कुरैशी ने बताया कि छह अगस्त 2013 को कमलानगर थाना इलाके में रहने वाली अनीता शर्मा ने घर में फांसी लगा ली थी। वह आरकेडीएफ कॉलेज में बीफार्मा प्रथम वर्ष की छात्रा थी। पुलिस ने मौके से एक सुसाइड नोट बरामद किया था। छात्रा के परिवार वालों के बयान और सुसाइड नोट के आधार पर पुलिस ने कॉलेज की चार छात्राओं और एक शिक्षक के खिलाफ खुदकुशी के लिए उकसाने का केस दर्ज किया था।

Leave a comment

Your email address will not be published.