तौकते चक्रवात से निपटने के लिए वायुसेना भी तैयार, केरल और तमिलनाडु में बाढ़ का अलर्ट जारी

weather-forecast-cyclone-touktae-effect-imd-issued-heavy-rain-alert-these-days-for-2-days-know-more
first-cyclone-of-2021-likely-to-form-over-arabian-sea-name-tauktae-know-when-and-where-will-cyclone-knock

मुंबई : दक्षिण पूर्वी अरब सागर से उठा समुद्री तूफान टाक्टे और विकराल होकर गुजरात की ओर बढ़ रहा है। यह तूफान गुजरात के साथ केंद्र शासित दमन और दीव और दादरा और नगर हवेली में कहर बरपा सकता है। तूफान के चलते केरल, तमिलनाडु, में बाढ़ का खतरा पैदा होने के साथ कर्नाटक, गोवा और महाराष्ट्र में भारी बारिश होने की आशंका है।

first-cyclone-of-2021-likely-to-form-over-arabian-sea-name-tauktae-know-when-and-where-will-cyclone-knock
first-cyclone-of-2021-likely-to-form-over-arabian-sea-name-tauktae-know-when-and-where-will-cyclone-knock

केंद्र सरकार ने की तैयारी

टाक्टे से निपटने के लिए केंद्र व राज्य सरकारों ने तैयारियां पूरी कर लीं। वायुसेना के साथ एनडीआरएफ की टीमें मुस्तैद हैं। कुछ एयरलाइंस ने अपनी उड़ानें प्रभावित होने की बात कही है। तटवर्ती क्षेत्र के निवासियों के साथ-साथ मछुआरों को सतर्क कर दिया गया है।

मौसम विभाग ने दी जानकरी

मौसम विभाग के अनुसार शनिवार की रात टाक्टे और विकराल होने की संभावना जताई है। इसके 18 मई को गुजरात के पोरबंदर और नालिया के बीच से गुजरने की संभावना है। यह तूफान गोवा से दक्षिण-पश्चिम करीब ढाई सौ किमी दूर बताया गया है। कुछ घंटों में इसके कर्नाटक के तट पर पहुंचने के आसार हैं।

बाढ़ की आशंका

इस तूफान के कारण 17 मई को गोवा के साथ महाराष्ट्र के सिंधुदुर्ग, रत्नागिरी और मुंबई में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश की आशंका जताई गई है। फिलहाल केरल और तमिलनाडु में भारी बारिश हो रही है। केंद्रीय जल आयोग ने दोनों राज्यों में अचानक बाढ़ की आशंका पर आरेंज अलर्ट जारी किया है।

Covid19 : लोगों ने छोड़ा अपनों का साथ, आरएसएस निभा रहा मानवता का रिश्ता

वायुसेना भी तैयार

टाक्टे से निपटने के लिए वायुसेना ने अपने 16 मालवाहक विमानों और 18 हेलीकाप्टरों का बेड़ा तैनात कर लिया है। इन विमानों से बचाव उपकरण प्रभावित होने वाले इलाकों में पहुंचाए जा रहे हैं। इस बीच राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की ओर से ट्वीट कर बताया गया कि तूफान की तीव्रता का अंदाजा लगाते हुए क्षेत्र में बल की टीमों की संख्या 53 से बढ़ाकर 100 कर दी गई है। एक टीम में सदस्यों की संख्या 47 होती है। इस तरह इस क्षेत्र में 4,700 जवान मुस्तैद किए गए हैं। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने बताया है कि तूफान से निपटने के लिए राज्य सरकार ने एक नियंत्रण कक्ष स्थापित किया है।

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *