खुशखबरी! दादरी-मुम्बई फ्रेट कॉरिडोर हो जाएगा इसी वर्ष तैयार

Mumbai-Dadri Front Corridor
Mumbai-Dadri Front Corridor

नई दिल्लीः प्रदेशवासियों के लिए खुशखबरी दादरी-मुंबई के बीच लगभग 1500 किमी का ट्रैक इसी साल बनकर तैयार हो जायेगा। मुंबई-दादरी डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर (डीएफसी) के लिए अब पटरी बिछाने का काम शुरू कर दिया गया है। पृथला से फरीदाबाद की ओर करीब सात किलोमीटर पटरी बिछाई जा चुकी हैं। काॅरिडोर के लिए पृथला में जंक्शन बनाया जा रहा है। यहां नया औद्योगिक हब बन चुका है। दादरी को मुंबई में जवाहर लाल नेहरू बंदरगाह से जोड़ने वाला डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान, गुजरात व महाराष्ट्र को जोड़ेगा।

Mumbai-Dadri Front Corridor : 1500 किमी का ट्रैक

इसका लाभ उत्तर रेलवे को भी मिलेगा और यहां से देश के अन्य हिस्से में अनाज व अन्य सामान की ढुलाई तेजी से हो सकेगी। बता दें दादरी-मुंबई के बीच लगभग 1500 किमी का ट्रैक है। डीएफसी डबल ट्रैक के होंगे। यानी आने-जाने वाली मालगाड़ियों के लिए अलग-अलग पटरियां होंगी। इससे न केवल समय की बचत होगी, बल्कि एक साथ ज्यादा माल एक जगह से दूसरी जगह पहुंचाया जा सकेगा। इसका सबसे बड़ा फायदा सब्जी, फल और दूध जैसी जल्दी खराब होने वाली वस्तुओं को होगा। ये पूरी तरह से अति आधुनिक सिग्नल, ट्रैक, इंजन और कम्युनिकेशन सुविधाओं से भी जुड़ी होंगी।

Mumbai-Dadri Front Corridor
Mumbai-Dadri Front Corridor

कारिडोर निर्माण का काम भी तेजी

यह कारिडोर करीब 20 फीट ऊंचा बनाया जा रहा है ताकि आमजन सहित कोई जानवर इस पर न चढ़ सके। इससे हादसे होने की आशंका भी कम होगी। मुंबई-दादरी रेलवे फ्रेट कॉरिडोर के लिए रेलवे की लाइन औद्योगिक नगरी में 28 किमी एरिया से गुजरेगी। इसके लिए जिले के 20 गांव की 551 एकड़ भूमि अधिगृहीत की जा चुकी है। कारिडोर निर्माण का काम भी तेजी से किया जा रहा है। कॉरिडोर जिन मार्गों को पार कर रहा है, वहां अंडरपास बनाने का काम भी किया जा रहा है। कई जगह इनका काम पूरा भी हो चुका है।

पंजाब : किसान संगठन की जिद के चलते नहीं चल रही ट्रेन, जानें क्या है माजरा

बड़ी संख्या में ट्रक नहीं उतरेंगे

वीरभान शर्मा (प्रधान, फरीदाबाद आइएमटी इंडस्ट्री एसोसिएशन) का कहना है कि डेडिकेटेड फ्रेट कारिडोर सड़कों से ट्रकों का बोझ हटाने में मददगार साबित होगा। एक मालगाड़ी में 200 से 300 ट्रकों के बराबर माल ढोया जा सकेगा। साफ है इससे सड़कों का बोझ भी कम होगा। जब सड़कों पर इतनी बड़ी संख्या में ट्रक नहीं उतरेंगे तो वायु प्रदूषण भी नहीं होगा। उद्योग जगत का माल सुरक्षित एक स्थान से दूसरे स्थान तक समय पर पहुंच सकेगा।

Mumbai-Dadri Front Corridor
Mumbai-Dadri Front Corridor

सभी अंडरपास बनकर तैयार

वाईपी शर्मा (उप मुख्य परियोजना प्रबंधक, डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर कॉरपोरेशन) का कहना है कि कॉरिडोर का निर्माण तेजी से पूरा किया जा रहा है। पटरी बिछाना भी शुरू कर दिया गया है। उम्मीद है कि दिसंबर 2021 में इसका निर्माण पूरा हो जाए। जल्द सभी अंडरपास बनकर तैयार हो जाएंगे।

जानिए नोएडा में एयरपोर्ट के नजदीक किस सेक्टर में विकसित होगी इलेक्ट्रॉनिक सिटी

औद्योगिक नगरी को बड़ी राहत

बीआर भाटिया (प्रधान, फरीदाबाद इंडस्ट्री एसोसिएशन) के मुताबिक, डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर कॉरपोरेशन बनने के बाद औद्योगिक नगरी को बड़ी राहत मिलेगी। बंदरगाह तक कच्चा व तैयार माल लाने ले जाने में दिक्कत नहीं होगी। फिलहाल बंदरगाह तक बड़े मालवाहक वाहनों के माध्यम से माल पहुंचाया जाता है। जहां हमारा माल 15 दिन में पहुंचता है, अब सप्ताह ही लगेगा। समय पर माल की डिलीवरी सुनिश्चित हो सकेगी।

Leave a comment

Your email address will not be published.