मथुरा में ऑटो गैंग का खुलासा, लूटपाट कर के ऐसे करते थे हत्याएं…

mathura crime 2020
mathura crime 2020

नई दिल्ली : यूपी में हत्या और लूटपाट की घटना आम बात हो गयी है ऐसे में यूपी के मथुरा में पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है. पुलिस ने यहां मुठभेड़ के बाद तीन बदमाशों को अपने शिकंजे में लिया है. मुठभेड़ के दौरान फायरिंग भी हुई है. गोली लगने से दो बदमाश घायल भी हो गए. हालांकि, इस दौरान एक बदमाश फरार होने में कामयाब रहा. पुलिस के मुताबिक, इन बदमाशों का गैंग ऑटो में सवारी बिठाकर उनसे लूटपाट करता था.

mathura crime 2020
mathura crime 2020

मुठभेड़ में घायल हुए बदमाश-

ये मुठभेड़ थाना जमुनापार इलाके के मावली रोड पर हुई है. आज तड़के पुलिस को जानकारी मिली थी कि कुछ शातिर बदमाश किसी घटना को अंजाम देने की फिराक में है. मुखबिर की निशानदेही पर पुलिस ने बदमाशों का पीछा किया और मावली रोड पर बदमाशों की घेराबंदी कर ली. घेराबंदी को देखकर शातिर बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग कर दी. पुलिस की जवाबी कार्रवाई में दो बदमाश धर्मेंद्र और सचिन के पैर में गोली लगने से घायल हो गए. तीसरे बदमाश शिवम को भी पुलिस ने गिरफ्त में ले लिया. हालांकि, गैंग का चौथा सदस्य राहुल मौके से फरार हो गया.

ऑटो में बैठाकर करते थे हत्या-

पुलिस ने बताया कि ये 5 लोगों का गैंग है जो ऑटो में सवारी बिठाकर हत्या और लूटपाट की घटना को अंजाम देता है. पहले हुई तीन वारदातों को शातिर बदमाशों ने कबूला है. शातिर बदमाशों ने अपने ऑटो को एक अलग तरह से तैयार कराया है, जिससे वह घटना को अंजाम देने के बाद मृतक की लाश को आसानी से ठिकाने लगा सके. पुलिस ने बताया कि इन बदमाशों ने ऑटो में पीछे बैठने वाली सीट के बाहर की तरफ से पर्दे लगा रखे हैं, जिससे अंदर बैठकर घटना को अंजाम दिया जा सके.

आपको बता दें कि इन बदमाशों ने 15 नवंबर को राया के व्यापारी की लूट के बाद गला दबाकर हत्या कर दी थी. बदमाशों ने हत्या के बाद शव को गोसना गांव के पास रेलवे ट्रैक के पास फेंक दिया था. इससे पहले 9 नवंबर को शेरगढ़ के रहने वाले एक युवक की हत्या कर उसके शव को यमुना नदी में फेंक दिया था.

Leave a comment

Your email address will not be published.