हनुमान चालीसा पढ़ने की इजाजत देने वाले मौलाना को दिखाया गांव से बाहर का रास्ता

नई दिल्ली : मथुरा के नंद बाबा मंदिर में दिल्ली के फैसल खान और मोहम्मद चांद द्वारा नमाज पढ़ने के बाद बागपत (Baghpat) के विनयपुर गाँव की मस्जिद में हनुमान चालीसा और गायत्री मंत्र का जाप किया गया. मस्जिद में भाजपा की जिला कार्यकारिणी सदस्य एवं जनसंख्या फाउंडेशन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मनुपाल बंसल ने इसे फेसबुक पर लाइव भी किया। लेकिन इसकी इजाजत देने वाले मौलाना अली हसन (Maulana Ali Hasan) को मस्जिद से निकाल दिया गया है।

मस्जिद से निकाले जाने के बाद मौलाना अपना सामान लेकर गाजियाबाद के लोनी चला गया। बताया जा रहा है कि मुस्लिम समाज के लोगों ने मस्जिद में हनुमान चालीसा और गायत्री मंत्र पढ़ने की अनुमति देने पर मौलाना से खासे नाराज थे, जिसकी वजह से यह फैसला लिया गया है।

मौलाना के समर्थन में हिंदू समाज –

Baghpat News hanuman chalisa

वहीं, मौलाना के समर्थन में हिंदू समाज के लोग पंचायत करने की तैयारी कर रहे हैं। खेकड़ा क्षेत्र के विनयपुर गांव में भाजपा नेता मनुपाल बंसल ने मंगलवार को मस्जिद में मौलाना अली हसन से इजाजत लेने के बाद भाईचारे के लिए मस्जिद में हनुमान चालीसा का पाठ किया। उन्होंने गायत्री मंत्र का जाप भी किया। मौलाना अली हसन ने मनुपाल बंसल को इसकी इजाजत दी थी।

मौलाना ने तो भाईचारे का संदेश दिया

मनुपाल ने हनुमान चालीसा के पाठ को फेसबुक पर भी लाइव किया था। इसे लेकर सोशल मीडिया पर तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं मिल रही थीं। इस बीच बुधवार को मामले में नया मोड़ तब आया जब मुस्लिम समाज के लोगों ने नाराजगी जाहिर की, गोपनीय तरीके से बैठक हुई और मौलाना को मस्जिद से निकाल दिया गया। मौलाना गाजियाबाना के लोनी में चला गया है। वहीं, मनुपाल बंसल का कहना है कि यह गलत है। मौलाना ने तो भाईचारे का संदेश दिया था।

Leave a comment

Your email address will not be published.