ट्रंप नहीं कर पा रहें अमेरिका की रक्षा, बांट दिया देश को- Joe Biden

नई दिल्ली : पिट्सबर्ग (अमेरिका), एक नवंबर (भाषा) डेमोक्रेटिक पार्टी से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बाइडेन ने अमेरिकी जनता से राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को पद से हटाने के लिए वोट करने की अपील करते हुए कहा कि पिछले चार साल में ट्रंप ने देश को बांट दिया है और बर्बाद कर दिया है। ट्रंप राष्ट्रपति पद के लिए रिपब्लिकन उम्मीदवार हैं और तीन नवंबर को होने वाले चुनाव में उनका मुकाबला डेमोक्रेटिक पार्टी के जो बाइडेन से है।

ऐसे राष्ट्रपति के शासन को समाप्त करे जनता

मिशिगन में एक रैली को संबोधित करते हुए बिडेन ने कहा, मुझे भरोसा है कि इस बार जनता ट्रंप को सत्ता से बाहर कर देगी। लाखों अमेरिकी वोट कर चुके हैं और लाखों और आने वाले दिनों में मतदान करेंगे। आपके लिए मेरा संदेश सीधा है। सत्ता को बदलने की ताकत आपके हाथों में है। मुझे इस बात का फर्क नहीं पड़ता कि ट्रंप कितना जोर लगाते हैं। लेकिन आपको मतदान करने से कोई नहीं रोकने वाला।
जब अमेरिका वोट करेगा तो उसकी बात सुनी जाएगी और जब उसकी बात सुनी जाएगी तो यह संदेश जोरदार व साफ होगा। बिडेन ने कहा, समय आ गया है कि ट्रंप अपना बोरिया बिस्तर समेटें और घर चले जाएं। हम उथल पुथल से तंग आ गए हैं। बहुत काम करने की जरूरत है। अगर मैं आपका राष्ट्रपति चुना जाता हूं तो हम वो काम करेंगे। हम कोरोना को काबू करने के लिए काम करेंगे। पूर्व उप राष्ट्रपति ने ट्रंप पर तीखा हमला करते हुए कहा, ‘‘समय आ गया है कि डोनाल्ड ट्रंप अपना बोरिया बिस्तर समेटें और घर चले जाएं। हम उथल-पुथल से तंग आ गये हैं।

बिडेन ने कहा, ट्रंप खुद को मजबूत आदमी की तरह पेश करते हैं। पिछली बार आपने देखा था कि संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राष्ट्रपति के भाषण पर दुनिया के नेता हंसे थे। नाटो सम्मेलन में हमारे सहयोगी ट्रंप की खुलकर खिल्ली उड़ा रहे हैं। क्या आप विश्वास करेंगे कि हमारे राष्ट्रपति ऐसे हैं, जो रूसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन के पपी की तरह काम करते हैं? पुतिन ने अफगानिस्तान में तैनात अमेरिकी सैनिकों के सिर पर इनाम रखा और ट्रंप उन्हें चुनौती देने में डर रहे थे। ट्रंप मजबूत नहीं, वह कमजोर हैं।

पिट्सबर्ग। बिडेन के समर्थन में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा, चार साल ट्रंप का ध्यान अपने अहम की तुष्टि पर ही केंद्रित रहा। उन्होंने कोरोना को गंभीरता से नहीं लिया। ट्रंप ने काम करने या किसी की मदद करने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई। ट्रंप ने राष्ट्रपति पद को एक रियलिटी शो से ज्यादा कुछ नहीं माना, जो उनकी ओर सबका ध्यान आकर्षित करे, जिसकी उन्हें भूख थी, लेकिन दुर्भाग्य से बाकी हम लोगों को परिणामों का सामना करना पड़ रहा।

 

Leave a comment

Your email address will not be published.