5G नेटवर्क टेस्टिंग की अफवाह फैलाने वाले हो जाए सावधान, अब जा सकते हैं जेल

नई दिल्लीः कोरोना के इस कठिन समय में भी कुछ लोग अफवाहें फैलाकर लोगों को भ्रमित कर रहे हैं. इन दिनों 5G नेटवर्क के ट्रॉयल को लेकर इंटरनेट पर कई तरह के भ्रामक संदेश वायरल हो रहे हैं। इन अफवाहें फैलाने वालों पर पुलिस अब सख्त कार्रवाई करेगी। एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार ने सभी जिलों के एसपी को अफवाह फैलाकर महौल बिगाड़ने का प्रयास कर रहे तत्वों के विरुद्ध कठोर विधिक कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

11-12 मई से मार्केट में उपलब्ध होगी एंटी कोरोना दवा, DRDO चेयरमैन ने दी जानकारी

5G टेस्टिंग से मौत की अफवाह

बता दें की यूपी में इंटरनेट पर 5-जी टेस्टिंग के दौरान पैदा हो रही तरंगों से कोरोना फैलने और लोगों की मौत होने के मैसेज तेजी से वायरल हो रहे हैं। सूबे के कुछ हिस्सों में 5-जी नेटवर्क ट्रायल से रेडीएशन फैल रहा है और लोगों की मृत्यु हो रही है। कुछ पोस्ट के जरिए इटली में कोविड से जान गंवाने वाले लोगों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद उनकी मृत्यु रेडिएशन से होने की बात सामने आने की अफवाहें फैलाई जा रही हैं।

उत्तर प्रदेश में फिर 17 मई तक बढ़ाया गया आंशिक कोरोना कर्फ्यू

अब होगी सख्त कार्रवाई

खुफिया विभाग ने ऐसे संदेशों को लेकर डीजीपी मुख्यालय को अपनी रिपोर्ट भी दी है। वाराणसी के एक युवक की बिहार के निवासी व्यक्ति से बातचीत का आडियो भी वायरल हुआ है, जिसमें 5-जी टावर की टेस्टिंग से लोगों के मारे जाने की बात कही जा रही है। इसके अलावा फतेहपुर, सिद्धार्थनगर, गोरखपुर व सुलतानपुर के गांवों में 5-जी टावर टेस्टिंग से लोगों की मौत होने तथा ग्रामीणों की ओर से टावर को बंद कराने की सूचनाएं भी वायरल की जा रही हैं।

 अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में कोरोना का कहर, 18 दिनों में 17 प्रोफेसरों की मौत

एडीजी प्रशांत कुमार ने निर्देश दिए हैं कि ऐसी वायरल खबरों को लेकर खुफिया तंत्र को लगातार सक्रिय रखा जाए और ऐसी अफवाहें फैलाने वालों के विरुद्ध कार्रवाई की जाए।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *