Happy Birthday क्रिस्टियानो रोनाल्डो , नेमार जूनियर

ronaldo&naeymar
ronaldo&naeymar

नई दिल्ली : मौजूदा दौर में फुटबॉल की बात हो तो तीन नाम सबसे पहले आते हैं, लियोनेल मेसी, क्रिस्टियानो रोनाल्डो और नेमार जूनियर। इन तीनों में से दो का जन्म आज ही के दिन हुआ था। 1985 में आज ही के दिन पुर्तगाल के एक गरीब परिवार में क्रिस्टियानो रोनाल्डो का जन्म हुआ। जबकि 1992 में आज ही के दिन ब्राजील के एक गरीब परिवार में नेमार जूनियर का जन्म हुआ था।

ronaldo&naeymar
ronaldo&naeymar

दिल्ली स्पेशल || Delhi Bulletin News || LIVE

पढ़ाई से ज्यादा फुटबॉल खेलने में लगन-

पहले बात करें रोनाल्डो की तो इनके पिता माली थे और मां दूसरे के घरों में जाकर खाना बनाती थीं। चार भाई-बहनों में सबसे छोटे रोनाल्डो का परिवार टीन की छत वाले घर में रहता था। मुश्किल हालात के बीच रोनाल्डो का दाखिला स्कूल में कराया गया, और बस यहीं से रोनाल्डो की फुटबॉल जर्नी शुरू हो गई थी। रोनाल्डो का मन पढ़ाई से ज्यादा फुटबॉल खेलने में लगने लगा था। महज आठ साल की उम्र में उन्होंने लोकल टीम के लिए फुटबॉल खेलना शुरू कर दिया था, और उनके बेहतरीन प्रदर्शन को देखते हुए उनका सिलेक्शन वर्ल्ड अंडर-17 टीम में हो गया। जब वे 18 साल के थे, तब इंग्लिश फुटबॉल क्लब मैनचेस्टर यूनाइटेड ने उन्हें 17 मिलियन अमेरिकी डॉलर में साइन किया। इसके बाद रोनाल्डो को कभी पीछे मुड़कर नहीं देखना पड़ा। वे कई सालों तक वो स्पेन के फुटबॉल क्लब रियल मैड्रिड की टीम का हिस्सा रहे। मौजूदा वक्त में वो फ्रेंच फुटबॉल क्लब PSG के लिए खेल रहे हैं।

फुटबॉलर गेरेथ बेल ने ईपीएल में 7 साल 266 दिन बाद किया गोल

ronaldo&naeymar
ronaldo&naeymar

नेमार जूनियर का बचपन-

वहीं अहर नेमार के बचपन की बात करें तो क्रिस्टियानो रोनाल्डो की ही तरह आज ही के दिन नेमार द सिल्वा सान्टोस जूनियर यानी नेमार जूनियर का भी जन्म 1992 में ब्राजील में हुआ था। नेमार का परिवार साओ पाउलो में मोगी डास कृजेस नाम की झोपड़पट्टी में रहा करता था। उनके पिता भी फुटबॉल के अच्छे खिलाड़ी थे, लेकिन घर की माली हालत अच्छी नहीं थी। परिवार चलाने के लिए नेमार के पिता अलग-अलग तरह की नौकरियां करते थे।

हाथी ने गाड़ी के टायर को बनाया फुटबॉल – देखें इस Video में

ronaldo&naeymar
ronaldo&naeymar

स्ट्रीट फुटबॉलर के रूप में करियर शुरू-

इतना ही नहीं गरीबी के चलते कई बार उनका परिवार बिजली का बिल तक जमा नहीं कर पाता था। ऐसे में जब कई बार घर की बिजली काट दी जाती तो नेमार और उनके परिवार को अंधेरे में दिन गुजारना पड़ता था। नेमार ने पहले स्ट्रीट फुटबॉलर के रूप में करियर शुरू किया। महज 11 साल की उम्र में नेमार ने ब्राजील का मशहूर एफसी सेंटोस क्लब ज्वॉइन कर लिया और फिर उन्होंने कभी मुड़कर नहीं देखा। 2009 में नेमार अंडर-17 ब्राजील टीम के कप्तान थे वहीं, 2017 में नेमार दुनिया के सबसे महंगे फुटबॉलर बन चुके थे।

Leave a comment

Your email address will not be published.