ग्रेटर नोएडा वेस्ट के सोसायटी निवासियों ने शुरू की ”नेकी का डब्बा एक निःस्वार्थ मुहीम”

नेकी का डब्बा
नेकी का डब्बा

नई दिल्लीः नेकी का डब्बा: इंसान ही इंसान की मदद कर सकता है और इंसानियत की अलख लिए ज़रूरतमंदों लोगों तक ज़रूरी वस्तु, और गर्म वस्त्र पहुँचाने की मुहिम को ग्रेटर नोएडा वेस्ट के सोसायटी समृद्धि ग्रैंड अवेन्यू के गिरीश चंद्र शुक्ला ने शुरू की थी लेकिन अब वो हर दिन कई हजार लोगों की सहायता कर रहे हैं और समाज के लिए एक मिसाल बन कर सामने आ रहे हैं. अब इस अभियान से आस-पास के कई और सोसाइटी जैसे जे.एम.फ्लोरैंस, रॉयल नेस्ट और अन्य सोसाइटी के भी रेसिडेंट शामिल हो गए हैं।

नेकी का डब्बा
नेकी का डब्बा

कोई भी काम एक सोच से शुरू होती है लेकिन इसको सफलतापूर्वक अंजाम देने में निरंतर प्रयास और लगन की ज़रूरत होती है जिसे इस मुहीम की शुरुआत करने वाले सोसाइटी युवाओं ने साकार कर के दिखाया है।

बच्चे भी शामील-

इस मुहीम में सिर्फ युवा ही नहीं बच्चे भी बढ़ चढ़ के हिस्सा ले रहे हैं अगर बच्चे पेंटिंग बना रहे हैं तो बड़े उस पर कविता लिख कर इस अभियान से जुड़े लोगों का हौसला बढ़ा रहे हैं।

नेकी का डब्बा
नेकी का डब्बा

आपको बता दें इस सप्ताह रविवार को “डब्बा” आम्रपाली ड्रीम वैली के निर्माण में काम करने वाले गरीब मजदूरों के सामने जा कर खुला। सोसाइटी निवासी दान में मिले एक-एक कपड़े को जरूरतमंद तक पहुँचाने से पहले कपड़ों को सही तरीके से छटाई करते हैं और फिर उन तक पहुँचाया जाता है जिनको इसकी सबसे ज्यादा आवश्यकता होती है.

नेकी का डब्बा
नेकी का डब्बा

अब तक लगभग 12000 कपड़े बांटे-

नेकी का डब्बा चलाने वाले निवासियों की युवा मंडली में मुख्य रूप से शामिल हैं, आलोक, संजय मिश्रा, संजय उपाध्याय, मनीष पाल, कुशल सेठी, ऋतु राज, नारायण गुप्ता, अंशु गुप्ता, डॉ पंकज, डॉ पारुल, सरिता, हेमा, रश्मीता, दीपिका, अर्चना आदि सम्मिलित हैं,
नेकी का डिब्बा के इस अभियान के तहत जरुरतमंदो को अभी तक लगभग 12000 कपड़े बांटे जा चुके हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.