19 साल की छात्रा के साथ रेप, विरोध करने पर फेंका छत से नीचे

Uttar pradesh girl raped
Uttar pradesh girl raped

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में एक बार फिर रेप की वारदात सामने आई है. मुरादाबाद में एक 19 साल की छात्रा (girl) से रेप (raped) किया गया. विरोध करने पर छात्रा को छत से नीचे फेंक दिया गया. घटना को अंजाम देने का आरोप पड़ोसी का ही है. उसे पुलिस ने अरेस्ट कर जेल भेज दिया है. वहीं, पीड़िता की हालत गंभीर बताई जा रही है.

Uttar Pradesh Girl Raped:

दिलारी पुलिस थाने के प्रभारी सरताज सिंह ने बताया कि छत से गिरने की वजह से लड़की को गंभीर चोटें आई हैं और उसे इलाज के लिए मुरादाबाद के दीनदयाल राजकीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

ये भी पढ़ें- तीन बच्चों की मां प्रेमी के साथ रहने को अड़ी, ससुरालवालों पर लगाए यह आरोप. 

Uttar pradesh girl raped
Uttar pradesh girl raped

छत के रास्ते घर में दाखिल-

घटना दिलारी पुलिस थाना क्षेत्र के अंतर्गत एक गांव की है. पीड़िता (girl) का पड़ोसी अरविंद सिंह छत के रास्ते उसके घर में दाखिल हो गया और कथित तौर पर बंदूक के जोर पर उसके साथ दुष्कर्म किया. पुलिस ने बताया कि जब पीड़िता अपने घरवालों को जगाने के लिए चिल्लाई तो अरविंद ने उसे छत से नीचे धक्का दे दिया. पीड़िता के परिवार वाले उसे नजदीकी अस्पताल ले गए परिवार के सदस्यों ने बताया कि स्थानीय पुलिस ने पहले दर्ज कराई गई प्राथमिकी में दुष्कर्म के आरोप को शामिल नहीं किया था.

उनके मुताबिक पुलिस ने घटना के दिन दर्ज प्राथमिकी में केवल महिला के सम्मान को ठेस पहुंचाने, जबरन घर में घुसने एवं घायल करने की धाराओं को ही शामिल किया था लेकिन मुरादाबाद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (SSP) प्रभाकर चौधरी के हस्तक्षेप के बाद प्राथमिकी में दुष्कर्म की धारा भी जोड़ी गई।

ये भी पढ़ें- बदायूं गैंग रेप का मुख्य आरोपी पुजारी सत्यनारायण गिरफ्तार  

Uttar pradesh girl raped
Uttar pradesh girl raped

थाना प्रभारी ने पीड़िता (girl) के पिता के आरोपों का खंडन करते हुए कहा कि पुलिस ने पूरी तरह से अपने कर्तव्यों का निर्वहन किया और प्राथमिकी में सभी धाराएं शामिल की जबकि दुष्कर्म की धारा सीआरपीसी की धारा 164 के तहत दर्ज पीड़िता के बयान के आधार पर जोड़ी गई।

ये भी पढ़ें- लव जिहाद: मुस्लिम युवक ने हिन्दू बनकर की शादी, मृत्यु होने पर शव छोड़कर भागा

Leave a comment

Your email address will not be published.