गाजीपुर बॉर्डर : रात को शराब पीकर बड़े बड़े डीजे पर बजाए जाते हैं तेज आवाज में गाने

ghaziabad-antiagricultural-laws-are-themselves-getting-disturbed-due-to-the-overnight-hustle
ghaziabad-antiagricultural-laws-are-themselves-getting-disturbed-due-to-the-overnight-hustle

नई दिल्ली : तीनों कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे धरने में शाम होते ही जाम छलकने लगता है। पूरी रात तेज ध्वनि में गाने बजाकर नृत्य होता है। मानों वह अपनी मांगे मनवाने के लिए धरने में नहीं किसी शादी समारोह में आए हुए हों। हुड़दंगियों की इस हरकत से अब यूपी गेट पर बुजुर्ग, महिलाएं व अन्य प्रदर्शनकारी परेशान होने लगे हैं। बुधवार को मंच से अपील की गई कि तेज आवाज में गाने न बजाएं। इससे बुजुर्गो को हार्ट अटैक आ सकता है।

ghaziabad-antiagricultural-laws-are-themselves-getting-disturbed-due-to-the-overnight-hustle
ghaziabad-antiagricultural-laws-are-themselves-getting-disturbed-due-to-the-overnight-hustle

हुड़दंगी शराब पीकर करते हैं डांस

यूपी गेट पर धरने में पहुंचे कृषि कानून विरोधी ज्यादातर ट्रैक्टरों में बड़े-बड़े स्पीकर लगाकर लाए हैं। दिन हो या रात हमेशा गाने बजाते रहते हैं। शाम होते ही गानों की आवाज बढ़ जाती है। दर्जनों हुड़दंगी शराब पीकर डांस करते हैं। यह हुड़दंग पूरी रात चलती रहती है। इससे आसपास के लोग परेशान रहते हैं।

यह भी पढ़ें- Kisan Andolan : खुद को फौजी बताकर किसानों और सैनिकों को भड़काने वाला निकला पंजाबी कलाकार

अब यूपी गेट पर एकत्र कृषि कानून विरोधी भी हुड़दंगियों से परेशान हैं। 30 जनवरी की रात में शराब पीकर तेज आवाज में गाने बजाकर नृत्य कर रहे हुड़दंगियों के बीच एक एंबुलेंस भी फंस गई थी। हुड़दंगियों से आसपास के लोग, प्रदर्शनकारी व लोग परेशान हैं लेकिन हुड़दंगी हरकत से बाज नहीं आ रहे हैं।

यह भी पढ़ें- कृषि आंदोलन पर विदेशी प्रोपेगेंडा के विरुद्ध एकजुट हुआ भारत

मंच से भी की गई अपील

तेज आवाज में गाने बजाने पर की गई अपील: हुड़दंगियों को रोक पाने में नाकाम प्रदर्शनकारियों ने अपने प्रतिनिधियों से इसकी शिकायत की। बुधवार को मंच से अपील की गई कि तेज आवाज में गाने बिल्कुल भी न बजाएं। इससे बुजुर्गो को हार्ट अटैक आ सकता है। साथ ही रात नौ बजे के बाद गाने न बजाने की अपील की गई। साथ ही मर्यादा बनाए रखने की भी अपील की।

Leave a comment

Your email address will not be published.