Online Class के नाम पर खेलता था Game, अब 15 वर्षीय छात्र की गर्दन में दर्द से मौत

Online Class
Online Class

नई दिल्लीः जब से देश में कोरोना लॉकडाउन शुरू हुआ तभी से छात्रों के लिए स्कूल बंद कर दिए गए थे। इस बीच बच्चों की पढ़ाई खराब न हो इसलिए ऑनलाइन पढ़ाई(Online Class) कराने का फैसला किया गया। जिसमे छात्रों को वीडियो कॉल के माध्यम से पढ़ाया जाता था। जिसमे छात्र घंटों फोन में लगे रहते थे। इसी के चलते कई छात्रों को मोबाइल पर गेम खेलने की लत लग गयी। ऐसा ही एक मामला बिहार में कटिहार के कोढ़ा प्रखंड और कोलासी ओपीक्षेत्र के मकईपुर गाँव की है, जहां मोबाइल में लगातार गेम खेलने से 15 वर्षीय 8वीं क्लास में पढ़ने वाले छात्र आयुष की मौत हो गई है। आयुष अपने मां-बाप का इकलौता बेटा था।

Online Class
Online Class

Online Class: रात-रातभर खेलता रहा गेम

हुआ यूं कि आयुष अपने घर में ऑनलाइन पढ़ाई(Online Class) कर रहा था, आयुष की पढ़ाई के साथ-साथ मोबाइल में गेम खेलने की भी आदत लग गई, माता-पिता के लाख समझाने के बाद भी आयुष ने मोबाइल में गेम खेलना नहीं छोड़ा, वह पढ़ाई करने का बहाना बनाकर रात में छुपकर देर रात तक गेम खेला करता था, पब्जी(Pub G) गेम और फ्री फायर(Free Fire) की लत इसे ऐसी लगी कि रात-रातभर और दिनभर लगातार वो मोबाइल में गेम ही खेलने लगा था।

Online Class
Ayush’s Mother Father

आयुष को जब गेम खेलने से उसके गर्दन में दर्द होने लगा तो वह चुपचाप बिना मां – बाप को बताये दर्द की दवाई(टेबलेट) खाने लगा और दर्द की वजह से दवा का आदी हो गया, इसकी जानकारी आयुष के माता-पिता को नहीं थी, एक दिन जब दर्द बर्दास्त नहीं हुआ तो आयुष ने माता-पिता को इसकी जानकारी दी तो पिता उसे डाक्टर के पास लेकर गए।… तबियत जब ज्यादा बिगड़ने लगी तो उसे मेडिकल कॉलेज ले गये, डॉक्टर ने एक्सरे रिपोर्ट के बाद आयुष के पिता को बताया कि दर्द की दवा ज्यादा खाने से दिक्कत हो गयी है जिसके कारण इसका इलाज लंबा चलेगा, इसी बीच आयुष की सांसें काफी फूलने लगी और देखते ही देखते आयुष अपने पिता के सामने इस दुनिया से हमेशा के लिए चला गया।

Weekend Lockdown शुक्रवार 10 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक जारी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *