जम्मू कश्मीर : शोपियां में आतंकियों से मुठभेड़, सैनिकों ने चार आतंकियों को किया ढे़र

Jammu Kashmir
Jammu Kashmir

नई दिल्ली: एक बार फिर सुरक्षाबलों को घाटी में एक बड़ी सफलता मिलने की एक बड़ी खबर सामने आई है। दरअसल जम्मू कश्मीर के शोपियां इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई है। खबर आई है की इस मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने चार आतंकियों को मार गिराया है।

Jammu Kashmir
Jammu Kashmir

हालांकि यह बताया जा रहा है कि मारे गए यह चारों आतंकी लश्कर ए तैएबा से जुड़े हुए थे। लेकिन शोपियां के मनिहाल में मारे गए यह चार आतंकियों की अभी तक कोई पहचान नहीं हो सकी है। इसी के साथ सुरक्षाबलों को कुछ और आतंकियों के छिपे होने की जानकारी मिली है, जिनकी तलाश के लिए अभी ऑपरेशन जारी है। बता दें कि सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच हो रही इस मुठभेड़ की खबर शोपियां के मनिहाल गांव से आई है।

Israel Embassy Blast: Israel Ambassador ने Blast को बताया Terrorist Attack

पहले भी दो आतंकी मारे गए

बताते चले की इससे पहले भी सिर्फ दो आतंकियों के मारे जाने की खबर आई थी। मिली जानकारी के मुताबिक, जम्मू कश्मीर पुलिस के आईजी विजय कुमार ने इस पर यह कहा था कि, ”शोपियां में मारे गए दोनों आतंकी लश्कर ए तोएबा से जुड़े हैं। एनकाउंटर में अभी दो और आतंकी फंसे हुए हैं। ऑपरेशन जारी है।” वहीं दूसरी ओर जम्मू-कश्मीर पुलिस के अधिकारियों के अनुसार, “शोपियां के मनिहाल इलाके में रात करीब 2 बजे मुठभेड़ शुरू हुई। जम्मू-कश्मीर पुलिस, सेना और सीआरपीएफ के संयुक्त अभियान में 3 अज्ञात आतंकवादी मारे गए हैं। फिलहाल ऑपरेशन जारी है और सुरक्षाबलों का सर्च अभियान चल रहा है”।

Jammu Kashmir
Jammu Kashmir

आपत्तिजनक सामग्री किया गया बरामद

खबर के अनुसार 11 मार्च से लेकर सुरक्षाबलों ने अब तक 8 आतंकियों को मार गिराया है। दरअसल सबसे पहले शोपियां में 13 मार्च देर रात को शुरू हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने एक आतंकी को मार गिराया था। साथ में मारे गए आतंकी के पास से एम-4 कारबाइन, 36 कारतूस, 9600 रुपये और कुछ आपत्तिजनक सामग्री भी बरामद हुई थी।

Jammu Kashmir
Jammu Kashmir

आतंकियों के पास मिली स्टील की गोलियां

बात करें पिछले सप्ताह की तो शोपियां के रावलपोरा में सुरक्षाबलों ने जैश कमांडर सज्जाद अफगानी को मार गिराया था। हालांकि इस अफगानी के पास चीन निर्मित स्टील की 36 गोलिया मिली थी। इसके बाद से सुरक्षा बलों ने अपने वाहनों, बंकरों और जवानों की बुलेट प्रूफिंग क्षमता को और भी मजबूत कर दिया है। बता दें कि स्टील की यह गोलियां सामान्य बुलेट प्रूफ वाहनों और जवानों की बुलेट प्रूफ जैकेट से काफी ज़्यादा क्षमता रखती हैं। इस बात की जानकारी खुद पुलिस अधिकारियों ने दी थी। अधिकारियों ने बताया कि, “विशेष रूप से दक्षिण कश्मीर में अब जो वाहन और जवान तैनात किए जा रहे हैं उनमें सुरक्षा की एक परत और बढ़ा दी गई है। सामान्य तौर पर एके सीरीज राइफल्स में इस्तेमाल होने वाली गोलियां व अन्य विस्फोटक पर चीनी तकनीक से हार्ड स्टील कोर की परत चढ़ाई जा रही है। इससे गोलियों में भेदने की क्षमता बढ़ जाती है”।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *