कोविड वैक्सीनेशन : सबसे पहले लद्दाख में तैनात सैनिकों को लगेगा कोरोना का टीका

first covid vaccine given to armed forces
first covid vaccine given to armed forces

नई दिल्लीः लम्बे इंतेज़ार के बाद देश में आज से कोरोना वैक्सीन लगाए जाने का काम शुरू हो रहा है. भारत में दो वैक्सीन को मंजूरी दी गई है. बता दें कि पहले दिन तीन लाख से ज्यादा स्वास्थ्यकर्मियों को कोविड-19 के टीके की खुराक दी जाएगी. इसी के साथ आज दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू होगा।

first covid vaccine given to armed forces
first covid vaccine given to armed forces

दरअसल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए देश में पहले चरण के कोविड-19 टीकाकरण अभियान की शुरुआत करेंगे. वहीं कोविड वैक्सीनेशन के लिए सेना को भी कुल 4000 वैक्सीन दी गई हैं. सबसे पहले लद्दाख में तैनात सेना के फ्रंटलाइन वर्कर्स यानि सैन्य-डाक्टर्स और पैरा-मेडिकल स्टाफ को वैक्सीन दी जाएगी।

मिलिट्री हॉस्पिटल में शुरू होगा वैक्सीनेशन कार्य-

जानकारी के अनुसार आज जब प्रधानमंत्री कोरोना-टीकाकरण कार्यक्रम की शुरूआत करेंगे तब लेह स्थित 14वीं कोर के मिलिट्री-हॉस्पिटल में भी वैक्सीनेशन का कार्य शुरू हो जाएगा. आपको बता दें कि लेह स्थित 14वीं कोर (फायर एंड फ्यूरी) कोर की जिम्मेदारी ही पूर्वी लद्दाख में चीन से सटी एलएसी की सुरक्षा करना है, जहां पिछले आठ महीने से दोनों देशों की सेनाओं में तनातनी चल रही है।

लद्दाख में तैनात सैनिकों को दी जाएगी वैक्सीन-

बता दें की वैक्सीनेशन का ये पहला चरण है, जानकारी के मुताबिक, इन 4000 वैक्सीन में से कम से कम 3820 अकेले लद्दाख में तैनात सैनिकों (डॉक्टर्स इत्यादि) के लिए हैं।

पहले चरण में लगाई जानी हैं 6 हजार वैक्सीन-

लेह में मिलिट्री-हॉस्पिटल के अलावा हार्ट-सेंटर अस्पताल में भी देशभर की तरह कोरोना-वैक्सीन कार्यक्रम की शुरूआत हो जाएगी. इसके लिए बाकयदा पूरी तैयारी कर ली गई है. करीब छह हजार वैकसीन पहले चरण में इस सेंटर में लगाई जानी है।

Leave a comment

Your email address will not be published.