कोरोना वैक्सीन का Final Dry run आज, ऐसा करने वाला देश का पहला राज्य बना यूपी

Final Dry Run UP
Final Dry Run UP

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में आज कोरोना वैक्सीन के आखिरी ड्राई रन का खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ निगरानी करेंगे. यूपी के सभी जनपदों में 1500 टीकाकरण केंद्र और 3000 बूथ बनाए गए हैं. सीएम योगी खुद तीसरे व अंतिम पूर्वाभ्यास की निगरानी करेंगे और लखनऊ, गोरखपुर, वाराणसी, मेरठ और सिद्धार्थनगर के मुख्य चिकित्सा अधिकारियों से वर्चुअल माध्यम से जुड़ेंगे, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद तीसरे व अंतिम पूर्वाभ्यास की निगरानी करेंगे. इसके पीछे की मंशा यही है कि वैक्सीनेशन से पहले अगर कोई खामी सामने आती है तो उसे समय रहते दूर किया जा सके. आज पूरे प्रदेश में 1500 केंद्रों पर टीकाकरण का पूर्वाभ्यास किया जाएगा. वहीं कोरोना वैक्सीन को लेकर तीसरा ड्राई रन करने वाला यूपी देश का पहला राज्य बना है। ये भी पढ़े- कुछ किसान नेता चाहते हैं बातचीत द्वारा समाधान न निकले: टिकैत

Final Dry Run UP
Final Dry Run UP

देश में पहला राज्य यूपी है, जो कोरोना वैक्सीन को लेकर तीसरी बार भी ड्राई रन करने जा रहा है. यह अभियान सभी जिलों के छह स्थानों ( तीन शहरी और तीन ग्रामीण) में चलाया जाएगा. प्रदेश में तीन चरणों में टीकाकरण का संचालन किया जाएगा. सीएम योगी रोजाना होने वाली उच्च स्तरीय बैठक में वैक्सीनेशन की तैयारियों को लेकर समीक्षा कर रहे हैं. इस बाबत उन्होंने साफ निर्देश दिए हैं कि भारत सरकार की गाईड लाइन का अक्षरश: पालन किया जाए।ये भी पढ़े- मां की डांट से 17 वर्ष की लड़की ने खुद को मारी गोली, पुलिस ने शुरू की जांच

Final Dry Run UP
Final Dry Run UP

पहले चरण में सरकारी और गैर सरकारी संस्थानों में कार्यरत स्वास्थ्य कर्मियों का टीकाकरण होगा. करीब 9 लाख स्वास्थ्य कर्मियों का तीन दिन में टीकाकरण होगा दूसरे चरण में पुलिस, जेल कर्मी, होमगार्ड, नगरीय निकायों के स्वच्छता कर्मियों, सिविल डिफेंस और सर्विलांस आदि कार्यों में लगे राजस्व कर्मियों को टीका लगेगा. तीसरे चरण में 50 वर्ष से अधिक उम्र के लोग और 50 वर्ष से कम उम्र के ऐसे लोग जो डायबिटीज, कैंसर आदि गंभीर बीमारियों से ग्रसित हैं, उनका वैक्सीनेशन होगा, तीसरे व अंतिम पूर्वाभ्यास में करीब 20000 स्वास्थ्य कर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है. वहीं पुलिस व अन्य विभागों के कर्मियों को भी ड्यूटी पर लगाया गया है।ये भी पढ़े- मुस्लिम महिलाओं को भी मिलेगा तीन में से एक तलाक देने का हक

Leave a comment

Your email address will not be published.