सोशल मीडिया पर वायरल हुआ यूपी बोर्ड परीक्षा का फर्जी शेड्यूल, रहें सतर्क

UP board exam
UP board exam

नई दिल्लीः सोशल मीडिया पर हाल ही में यूपी बोर्ड परीक्षा को लेकर एक फर्जी समय सारणी वायरल हो रही है. माध्यमिक शिक्षा विभाग ने कहा कि इस संबंध में अभी तक कोई भी कार्यक्रम जारी नहीं किया गया है। वायरल हो रही समय सारणी फर्जी है।दरअसल, परीक्षाओं को लेकर माध्यमिक शिक्षा विभाग कई विकल्पों पर काम कर रहा है।

दिल्ली में संकट : कोरोना से रिकवर हो चुके लोगों पर हो रहा ब्लैक फंगस का प्रहार

सरकार के समक्ष प्रस्ताव

बता दें की विभाग के अधिकारी जल्द ही अपना प्रस्ताव सरकार के समक्ष प्रस्तुत करेंगे। मई के अंतिम सप्ताह तक सरकार इस पर निर्णय ले सकती है।बोर्ड के अधिकारी ने बताया कि एक विकल्प यह है कि जुलाई के पहले सप्ताह से हाई स्कूल और इंटरमीडिएट दोनों की परीक्षा कराई जाए। एक विकल्प हाई स्कूल की परीक्षा रद्द कर इंटरमीडिएट की परीक्षा कराने का है।

DRDO की एंटी कोरोना 2DG दवा को रक्षा मंत्री व स्वास्थ्य मंत्री ने किया लॉन्च

निर्णय का इंतजार

तो वहीं तीसरा विकल्प स्कूलों की ओर से भेजे गए आंतरिक मूल्यांकन के अंकों के आधार पर बोर्ड परीक्षा के अंक देकर प्रमोट करने का है। चौथा विकल्प है कि सीबीएसई की तर्ज पर पांच-पांच  शिक्षकों की कमेटी गठित कर मूल्यांकन कराकर परिणाम जारी किया जाए। इंटर की परीक्षा को लेकर विभाग सीबीएसई के निर्णय का इंतजार कर रहा है।

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *