नगरोटा में जैश के आतंकी “ENCOUNTER” में मारे गए, रची गई थी बड़ी साजिश

Encounter in Nagrota
Encounter in Nagrota

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर के नगरोटा  में सेना ने आतंकियों के खिलाफ एक्शन लेते हुए गुरुवार को पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के चार आतंकियों को मार गिराया था। खुफिया एजेंसियों का कहना है कि ये चारों आतंकी डिस्ट्रिक्ट डेवलपमेंट काउंसिल  के चुनाव के दौरान बड़े हमले को अंजाम देने की फिराक में थे। सूत्रों ने बताया कि तलाशी के दौरान इनके पास से एक डिजिटल मोबाइल रेडियो बरामद किया गया है। पाकिस्तानी कंपनी की ओर से निर्मित इस मोबाइल की जांच के दौरान कुछ संदेश भी मिले हैं।

संदेश से ऐसा लगता है कि बुधवार-वीरवार की रात लगभग दो बजे आतंकियों ने अंतरराष्ट्रीय सीमा से घुसपैठ की है। संदेशों में कहा गया है कि कहां तक पहुंचे। क्या हाल है और कोई मुश्किल तो नहीं आ रही है। एक संदेश में 2 बजे लिखा गया है।

अंदाजा लगाया जा रहा है कि आतंकियों ने दो बजे घुसपैठ की है। सूत्र बताते हैं कि डिजिटल मोबाइल डाटा से कनेक्शन तलाशे जाएंगे। हालांकि, इस बारे में सुरक्षा एजेंसियों की ओर से कुछ भी नहीं कहा जा रहा है।

Encounter in Nagrota
Encounter in Nagrota

गाइड आतंकियो को जम्मू-श्रीनगर हाईवे तक लाया                                                                                                        सूत्रों ने बताया कि घुसपैठ के बाद आतंकियों को एक गाइड जम्मू-श्रीनगर हाईवे तक लेकर पहुंचा। यहां से वे ट्रक में सवार हुए। सूत्रों ने बताया कि सुरक्षा एजेंसियां गाइड की तलाश में जुटी हुई हैं। जानकारी मिली है कि मोबाइल इन आतंकियों को घुसपैठ करने से कुछ समय पहले ही सौंपे गए थे।

मुठभेड़ स्थल पर सुरक्षा बलों को रोका गया ट्रक वीरवार सुबह 3.45 बजे सरोर टोल प्लाजा से गुजरा था। उधर, इसी नंबर प्लेट के साथ एक अन्य ट्रक को आखिरी बार लखनपुर टोल प्लाजा पर नौ नवंबर को देखा गया था। जम्मू-कश्मीर से बाहर की ओर गए उस ट्रक की रिकॉर्ड में कहीं वापसी दर्ज नहीं है।

जेके01एएल-1055 नंबर प्लेट वाले एक ट्रक को लखनपुर हाईवे टोल प्लाजा पर चार बार गुजरते देखा गया। इस ट्रक ने 8 अक्तूबर, 21 अक्तूबर, 1 नवंबर और 9 नवंबर को हाईवे टोल शुल्क की अदायगी की है।

Leave a comment

Your email address will not be published.