ED-अनिल देशमुख पर वसूली का मामला ,ED ने कसा शिकंजा

anil-deshmukh
anil-deshmukh

 

नई दिल्लीः ED-प्रवर्तन निदेशालय (ED ) ने कथित तौर पर करोड़ों रुपए की रिश्वत लेने और जबरन वसूली करने वाले रैकेट से जुड़े धनशोधन मामले में पूछताछ करने के लिए महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख को को समन जारी किया। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के 71 वर्षीय नेता देशमुख को यहां बलार्ड एस्टेट इलाके स्थित ED कार्यालय में मामले के जांच अधिकारी के समक्ष पेश होने को कहा गया है।

ICMR: कोरोना की तीसरी लहर दूसरी लहर से कम खतरनाक – ICMR

लेकिन इस मामले में एक नया मोड़ आता दिख रहा है। अनिल देशमुख की ओर से वकील जयवंत पाटिल ने जानकारी दी है कि अनिल देशमुख आज ED के सामने पेश नहीं होंगे।

ED-मामला क्या है ?

पुलिस आयुक्त के पद से हटाये जाने के बाद परमबीर सिंह ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर आरोप लगाया था कि देशमुख ने वाजे को मुंबई के बार और रेस्तरां से एक महीने में 100 करोड़ रुपये से अधिक की रकम वसूलने को कहा था। उस समय पलांडे भी वहां मौजूद थे। पलांडे और शिंदे से सीबीआई भी पहले पूछताछ कर चुकी है।

 

इन आरोपों की जांच के लिए महाराष्ट्र सरकार ने जस्टिस चांदीवाल आयोग का गठन किया गया है । इन्हीं आरोपों के कारण अनिल देशमुख को गृह मंत्री पद से हटा दिया था और पूरे मामले की जांच ईडी और सीबीआई कर रही है।

ED-सचिव को किया गिरफ्तार

केंद्रीय एजेंसी ने देशमुख के निजी सचिव संजीव पलांडे और निजी सहायक कुंदन शिंदे को शुक्रवार रात गिरफ्तार किया था। इससे पहले, ईडी ने मुंबई और नागपुर में देशमुख, पलांडे और शिंदे के परिसरों पर छापे मारे थे। छापेमारी के बाद पलांडे और शिंदे को ईडी कार्यालय लाया गया और बाद में उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *