कोरोना के बीच दिल्ली में अब डेंगू-चिकनगुनिया का खतरा, टूटा 8 साल का रिकॉर्ड

नई दिल्लीः देश में कोरोना संकट के बीच राजधानी दिल्ली में संक्रमण की दर में कमी आई है, लेकिन अब दिल्ली में मच्छरजनित बीमारियों के मामले बढ़ रहे हैं। यही वजह है कि डेंगू के मामलों ने आठ साल का रिकार्ड तोड़ दिया है। एक सप्ताह में डेंगू के चार मरीज सामने आए हैं।डेंगू के अलावा चिकनगुनिया के एक मरीज की पुष्टि हुई है। इससे चिकनगुनिया के कुल मरीजों की संख्या चार तक पहुंच गई है।

कोरोना टेस्टिंग के लिए Cipla ने लॉन्च की RT-PCR टेस्ट किट, आज से ही उपलब्ध

दिल्ली में डेंगू का खतरा

बता दें कि इस वर्ष मच्छरजनित बीमारियों का सर्वाधिक प्रकोप दक्षिणी निगम क्षेत्र में हैं। एक सप्ताह में चार में दो मरीज दक्षिणी निगम इलाके से हैं तो वहीं एक उत्तरी निगम इलाके से है। एक मरीज के पते की पुष्टि नहीं हो पाई है। इस वर्ष अब तक के कुल 25 मरीजों में से 10 दक्षिणी निगम क्षेत्र से हैं। दो-दो मरीज उत्तरी और पूर्वी निगम क्षेत्र से हैं। एक मरीज नई दिल्ली नगर पालिका परिषद क्षेत्र का है तो 10 मरीजों के पते की पुष्टि नहीं हो पाई है।

मौत के बाद शव से कोरोना संक्रमण का खतरा नहीं, AIIMS विशेषज्ञों ने दी जानकारी

मलेरिया के आठ मरीज

इसके साथ ही मलेरिया के कुल आठ मरीजों में से चार मरीज दक्षिणी निगम क्षेत्र से हैं। दो पूर्वी निगम से तो एक उत्तरी निगम क्षेत्र से है। एक मरीज के पते की पुष्टि नहीं हो पाई है।चिकनगुनिया का भी एक मरीज इस सप्ताह दक्षिणी निगम क्षेत्र से आया है। इस वर्ष के कुल चार मरीजों में से दो मरीज दक्षिणी निगम क्षेत्र के हैं तो वहीं दो मरीजों के पते की पुष्टि नहीं हो पाई है।

Report : कोरोना भी नहीं रोक पा रहा उभरती नई महाशक्ति भारत को

आपको बता दें की कोरोना के चलते निगम कर्मी घर-घर जांच के लिए नहीं जा पा रहे हैं। इसके चलते निगम मोबाइल के माध्यम से नागरिकों को जागरूक करने की कोशिश कर रहा है। इसके लिए दक्षिणी निगम ने पांच लाख मोबाइल पर लोगों को एसएमएस भेजे हैं। इसमें मच्छरजनित बीमारियों के बारे में बताया गया है।

Leave a comment

Your email address will not be published.