Delhi: बिगड़ते हालात, एक्शन में दिल्ली सरकार, डॉक्टरों की रिटायरमेंट 6 महीने बढ़ाई

Delhi

नई दिल्ली(Delhi): कोरोना का कहर के बदस्तुर जारी है। बिगड़ते हालात को लेकर सरकार सतर्क हो गई है। केन्द्र सरकार के साथ-साथ राज्य सरकार भी लगातार बैठक कर रही है। देश की राजधानी में कोरोना के बढ़ते मामलों की वजह से अस्पतालों में मैनपॉवर की डिमांड के साथ साथ नए कोरोना बेड्स की जरूरत नजर आ रही है। इसके मद्देनजर दिल्ली सरकार ने शनिवार को 4 अहम आदेश जारी किए हैं।

Delhi

Delhi: कोरोना वैक्सीन के नाम पर हो रही ठगी, हो जायें सतर्क

जारी आदेशों में कही गई है ये बंद

1. पहला आदेश में कहा गया है कि दिल्ली में बढ़ते कोरोना मामलों के मद्देनजर सरकार के सभी कोविड हॉस्पिटल में मैनपावर को बढ़ाने के लिए दिल्ली सरकार ने चौथे और पांचवे साल के MBBS छात्रों, इंटर्न्स और BDS पास डॉक्टर्स को कोविड ड्यूटी में इस्तेमाल करने के आदेश जारी किए हैं। आदेश में कोरोना के इलाज में लगे दिल्ली सरकार के अस्पतालों के MD/MS को अधिकृत किया गया है कि वो इन सभी लोगों को कोरोना ड्यूटी में लगा लें।

सभी कोरोना अस्पतालों को दी गई है ये निर्देश

2. दूसरा आदेश में इस बात का जिक्र है कि सभी कोरोना अस्पतालों को यह निर्देश दिया है कि वो डिस्चार्ज होने वाले कोरोना मरीज़ों को ऑक्सीजन कंसंट्रेटर जारी कर सकते हैं। इसके लिए अब CDMO यानी चीफ डिस्ट्रिक्ट मेडिकल ऑफीसर के अलावा दिल्ली सरकार के सभी सरकारी कोरोना हॉस्पिटल के मेडिकल डायरेक्टर/मेडिकल सुपरिटेंडेंट और डायरेक्टर भी डिस्चार्ज होने वाले कोरोना मरीज को ऑक्सीजन कंसंट्रेटर जारी कर सकते हैं।

3. दिल्ली में तेजी से बढ़ते कोरोना मामलों के मद्देनजर दिल्ली सरकार ने करोल बाग के ‘आयुर्वेदिक एंड यूनानी तिब्बिया कॉलेज एंड हॉस्पिटल’ को कोविड हेल्थ सेंटर घोषित कर दिया है। इस कोविड हेल्थ सेन्टर में 100 बेड कोरोना मरीज़ो के लिए होंगे।

4. कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर मेडिकल स्टाफ बढ़ाने और रेसिडेंट डॉक्टर्स की कमी को पूरा करने के लिए दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने मेडिकल इंस्टीट्यूशन्स को आदेश जारी किये हैं।

BJP के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने 22 बाघी प्रत्याशीयों को किया पार्टी से निलंबित

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *