सद्दाम की किताब से लिया आईडिया, पत्नी-सास को उतारा मौत के घाट

Delhi crime
Delhi crime

नई दिल्ली। Delhi Crime: दिल्ली में हत्या का एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है।आपको बता दें ये बारदात को अंजाम देने के लिए एक रियल एस्टेट कारोबारी ने इराक के तानाशाह सद्दाम हुसैन की किताब से इस खतरनाक आईडिया को अपनाया था। आरोपी कारोबारी ने अपनी सास, पत्नी और साली को थैलियम नामक रासायनिक तत्व को खाने में मिलकर दिया था जिसके बाद उसकी सास और साली की मौत हो गई तो वहीं आरोपी की पत्नी कोमा में चली गयी।

Delhi crime
Delhi crime

Crime: ग्रेटर नोएडा वेस्ट के एकमूर्ति पर पुलिस मुठभेड़ में पकड़े गए छह बदमाश

साजिश का खुलासा

मिली हुई जानकरी के तहत इस साजिश का खुलासा कारोबारी के ससुर ने किया है। कारोबारी के ससुर होमियोपैथी दवाओं के निर्माता हैं। वो पुलिस के पास गए और बताया की उनकी पत्नी की गंगा राम अस्पताल में मौत हो गई है। उनको शक है कि उनके दामाद वरुण अरोड़ा का इसमें हाथ है।आरोपी के ससुर ने मछली में थैलियम मिलकर खिलाने वाली बात भी पुलिस को बताई। साथ ही ये भी बताया कि वो मछलियां वरुण ने न तो खुद खाई और न ही अपने बच्चों को खिलाई। उन्हें शक है कि उसने मछलियों में कुछ मिलाया था।

Delhi crime
Delhi crime

पुलिस कि जांच  में

इसके बाद पुलिस ने जांच शुरू की। पुलिस ने मृतक महिला का पोस्टमार्टम किया तो उसके शरीर में थैलियम की अत्यधिक मात्रा मिली। इसके बाद कोमा में गई हुई वरुण की पत्नी का भी टेस्ट किया तो उसके शरीर में भी थैलियम मिला। इसके बाद पुलिस ने वरुण का लैपटॉप समेत अन्य सामान अपने कब्जे में ले लिया। जांच में उसके लैपटॉप की हिस्ट्री सर्च में सद्दाम हुसैन का थैलियम खिलाकर हत्या करने वाला कंटेट मिला। इसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है।

Delhi crime
Delhi crime

थैलियम क्या है?

थैलियम एक अत्यधिक जहरीला धातु रासायनिक तत्व है. इसकी खोज अंग्रेज वैज्ञानिक विलियम क्रुक्स ने 19वीं शताब्दी में एक विशेष सेलेनियम युक्त पायराइट में वर्णक्रममापी उपकरण द्वारा की थी। थैलियम का उपयोग कीट और चूहे के जहर के रूप में किया जाता था, क्योंकि इसकी विषाक्तता थी लेकिन इंसान को जोखिम के कारण इसकी एक छोटी सी मात्रा का इस्तेमाल ही काफी है।

हॉस्पिटल स्टाफ के खाने में मिली मरी हुई छिपकली, डॅाक्टर और स्टाफ की बिगड़ी तबीयत

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *