दिल्ली में सरकारी स्कूलों के 8 लाख विद्यार्थियों को 6 महीने का राशन देगी केजरीवाल सरकार

aap will provide free wifi to agitating farmers
aap will provide free wifi to agitating farmers

नई दिल्ली: Delhi CM अरविंद केजरीवाल ने ‘Mid Day Meal राशन किट’ की शुरुआत की यह दिल्ली के सरकारी स्कूलों में मिड डे मील योजना में बड़ा बदलाव किया है. दिल्ली सरकार ने फैसला किया है कि अब से दिल्ली के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले सभी छात्रों के नाम पर उनके अभिभावकों को राशन दिया जाएगा. अभिभावक राशन किट बच्चे के स्कूल से ले सकते हैं. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज इस योजना ‘मिड डे मील राशन किट’ की शुरुआत की और राशन किट लॉन्च की.

मार्च से अब तक पैसा ट्रांसफर हो रहा था-

बता दें कि दिल्ली सरकार दिल्ली के सभी सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को मिड डे मील मुफ्त में मुहैया कराती है. लेकिन कोरोनावायरस के चलते दिल्ली में स्कूल लंबे समय से बंद हैं. इसलिए दिल्ली सरकार मिड डे मील की जगह छात्रों के अभिभावकों के खातों में मार्च महीने से अब तक पैसा ट्रांसफर कर रही थी. लेकिन अब दिल्ली सरकार ने छात्रों को नए तरीके से मिड डे मील देने का फैसला किया है. इस राशन किट में प्राइमरी क्लास के छात्रों के लिए कुल 20 किलो अनाज (गेहूं, चावल, दाल) और तेल मिलेगा. इस राशन किट में 6 महीने का राशन होगा. वहीं, अपर प्राइमरी के लिए कुल 30 किलो (गेहूं, चावल, दाल) और तेल मिलेगा. यह राशन किट भी 6 महीने के लिए होगी.

6 महीने के लिए रहेगी लागू-

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह योजना अगले 6 महीने के लिए लागू रहेगी और 6 महीने के लिए राशन किट छात्रों के अभिभावकों को एक साथ ही दी जा रही है.

Delhi CM Mid Day Meal देश की पहली योजना-

केजरीवाल सरकार (Delhi CM) के मुताबिक, करीब 8 लाख स्कूली छात्रों को पूरी दिल्ली में राशन किट बांटी जाएगी। मंगलवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने डिप्टी सीएम और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया के साथ मंडावली के राजकीय सर्वोदय विद्यालय में मिड डे मील (Mid Day Meal) बांटने पहुंचे। इस दौरान सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली में सूखा राशन 8 लाख बच्चों के अभिभावकों को स्कूल से बांटा जाएगा। ये देश की पहली योजना है। जब तक स्कूल बंद रहेंगे तब तक मिड डे मील राशन की योजना चलती रहेगी।

"<yoastmark

Leave a comment

Your email address will not be published.