किसान आंदोलन : दिल्ली से गाज़ियाबाद जाने वाली फ्लाईओवर की लेन फिर बंद

-delhi-city-good-news-for-those-who-travel-from-delhi-to-ghaziabad-and-hapur-and-meerut-now-opened-one-lane-of-flyover
-delhi-city-good-news-for-those-who-travel-from-delhi-to-ghaziabad-and-hapur-and-meerut-now-opened-one-lane-of-flyover

नई दिल्ली : दिल्ली पुलिस ने गाजीपुर बॉर्डर पर 3 घंटे खोलने के बाद बाद फ्लाईओवर की लेन फिर बंद कर दी है। मिली जानकारी के मुताबिक, मंगवलार सुबह के वक्त एम्बुलेंस को रास्ता देने के लिए बैरिकेड्स हटाए गए थे। इसके बाद करीब तीन घंटे तक दिल्ली से गाज़ियाबाद जाने वाली लेन पर वाहनों का आवागमन रहा।

-delhi-city-good-news-for-those-who-travel-from-delhi-to-ghaziabad-and-hapur-and-meerut-now-opened-one-lane-of-flyover
-delhi-city-good-news-for-those-who-travel-from-delhi-to-ghaziabad-and-hapur-and-meerut-now-opened-one-lane-of-flyover

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने भी एंबुलेंस के जाने के बाद अन्य वाहनों को नहीं रोका और वाहन गाजियाबाद जाने के लिए रफ्तार भरते रहे। वहीं, दोपहर में फ्लाईओवर की लेन बंद होने से वाहन चालकों को दिल्ली से गाजियाबाद, मेरठ और हापुड़ जाने के लिए वैकल्पिक मार्गों का इस्तेमाल करना पड़ रहा है।

बॉर्डर को फिर किया बंद

गौरतलब है कि दिल्ली, मेरठ, गाजियाबाद और हापुड़ समेत पश्चिमी उत्तर प्रदेश के दर्जनभर जिले के लोगों के लिए मंगलवार को राहत भरी खबर आई थी। दिल्ली पुलिस ने मंगलवार सुबह ही यूपी गेट बॉर्डर पर दिल्ली से गाजियाबाद जाने वाले लोगों के लिए फ्लाईओवर की एक लेन खोल दी थी। दिल्ली पुलिस द्वारा दी गई इस राहत के बाद राजधानी दिल्ली से गाजियाबाद, हापुड़ और मेरठ जाने वाले हजारों वाहन चालकों को बड़ी राहत मिली थी। वहीं, दिल्ली पुलिस ने बार्डर को फिर से बंद क़िया। पुलिस का कहना सुबह के वक्त एम्बुलेंस को रास्ता देने के लिए बैरिकेड्स हटाए थे। करीब तीन घंटे तक दिल्ली से गाज़ियाबाद जाने वाली लेन पर वाहनों का आवागमन रहा।

100 दिन से ऊपर हुआ आंदोलन-

बता दें कि तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को रद करने की मांग को लेकर दिल्ली-एनसीआर के चारों बॉर्डर (शाहजहांपुर, टीकरी, सिंघु और टीकरी) पर हजारों की संख्या में किसान डटे हुए हैं। सिंघु बॉर्डर पर किसानों का धरना प्रदर्शन 100 दिन को भी पार कर चुका है।

Leave a comment

Your email address will not be published.